16.8 C
London
Saturday, May 25, 2024

सऊदी अरब : सलमान खान के प्रोग्राम के बाद देशभर में पढ़ी जाने लगी नमाज़ें, लोगों से तौबा करने की अपील वजह जान….

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

पिछले कई दिन से सऊदी अरब खबरों में बना हुआ है पहले रियाद में सलमान खान के द्वारा किए गए शो पर मामला थमा भी नहीं था कि तबलीगी जमात को लेकर खबरें सामने आई अब जो खबर सामने आई है वह बहुत अहम है मलिक सलमान बिन अब्दुल अजीज की हिदायत पर मस्जिद ए हरम मक्का और मस्जिद नबी शरीफ समेत देश के तमाम मस्जिदों में और स्कूलों में इस्तेस्का की नमाज की हिदायत की गई ।

आपको बता दें इस्तेसका की नमाज उस वक्त पढ़ी जाती है जब बारिश की कमी हो या बारिश ना हो मिली जानकारी के अनुसार तमाम इलाकों के गवर्नर और डिप्टी गवर्नर अपने-अपने क्षेत्रों की प्रमुख मस्जिदों में हुई इस्तेसका की नमाज में शामिल हुए इस्तेसका की सबसे बड़ी नमाज मक्का के हरम शरीफ में हुई जहां पर उमरा करने आये जायरीन सहित मक्का के गवर्नर शहजादा खालिद फैसल ने भी इस्तेसका की नमाज में शामिल हुए।

हरम मक्की शरीफ के प्रशासन के प्रमुख शेख अब्दुल रहमान अल सुदैस ने इमामत कराई और खुतबा दिया उन्होंने अपने खुतबा में मुसलमानों को तक़वा इख्तियार करने की तरग़ीब दी और तौबा इस्तेगफार करने को कहा उन्होंने कहा इस्तेगफार की कसरत खैरो बरकत का बाइस है जिसकी वजह से रिज़्क़ में बरकत और आसमान से रहमत की बारिश नाज़िल होती है ।

वहीं दूसरी तरफ इस्तेसका की दूसरी सबसे बड़ी जमात मस्जिद नबवी शरीफ में हुई उसमें वहां के गवर्नर शहजादा फैसल बिन सलमान नमाजियों के साथ शरीक हुए मस्जिद नबी के इमाम और खतीब सलाह बदीर ने खुतबा दिया और नमाज की इमामत की उन्होंने अपने खुतबा में कहा रहमत की बारिश के लिए इस्तेसका की नमाज पढ़ना सुन्नत है जिस पर हर दौर में अमल होता रहा है।

उन्होंने भी मुसलमानों से अपील की वह सदका खैरात और अच्छे कामों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लें इसके अलावा देश की और बड़ी मस्जिदों में भी इस्तेसका की नमाज अदा की गई रियाज, तबूक, कसीम, नजरान, की मस्जिदों के अलावा देश के अलग अलग स्कूलों में भी रहमत की बारिश के लिए इस्तेसका की नमाज़ पढ़ी गई और दुआ मांगी गई।

- Advertisement -spot_imgspot_img

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here