दिल्ली। आज सुबह न्यूज़ चैनलों व सोशल मीडिया पर न्यूज प्रसारित की गई थी कि “मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता सज्जाद नोमानी भी तालिबान के समर्थन में उतर आए हैं। बुधवार को उन्होंने बयान जारी कर अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे को जायज बताया। उन्होंने कहा कि तालिबान ने पूरी दुनिया की सबसे मजबूत सेनाओं को धूल चटाई है। इन नौजवानों ने काबुल की जमीन को चूमा है। आगे कहा कि हिंदुस्तान का मुसलमान, तालिबान को सलाम करता है। उन्होंने तालिबान की जीत के लिए कहा अल्लाह का शुक्र है”। ये न्यूज़ पूरी तरह से फर्जी पाई गई है।दरअसल किसी मेंबर ने ये स्टेटमेंट दिया था जिसे कुछ मीडिया चैनलों ने मुखिया सज्जाद नोमानी से जोड़ दिया था।

खबर वायरल होने के बाद तुरंत ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से न्यूज को फर्जी बताया गया है

ट्वीट में लिखा गया है: “ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने तालिबान और अफ़ग़ानिस्तान की राजनीतिक स्थिति पर कोई टिप्पणी नहीं की है। कुछ मीडिया चैनल बोर्ड के कुछ सदस्यों की निजी राय को बोर्ड का स्टैंड मानकर ग़लत बात पर बोर्ड को ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं। यह बात पत्रकारिता मूल्यों के विपरीत है। मीडिया चैनलों को इस तरह के कृत्यों से बचते हुए बोर्ड से तालिबान की ख़बरों को नहीं जोड़ना चाहिए।”

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment