रूस ने यूक्रेन के चेर्नोबल के न्यूक्लियर प्लांट पर किया कब्जा

मनोरंजनरूस ने यूक्रेन के चेर्नोबल के न्यूक्लियर प्लांट पर किया कब्जा

यूक्रेन (Ukraine) पर रूसी (Russia) हमले के बीच बड़ी खबर सामने आई है. रूस के यूक्रेन के ऊपर हमले तेज होते जा रहे हैं. खबर है कि रूस ने यूक्रेन पर एयर स्‍ट्राइक के जरिए यूक्रेन के एयर डिफेंस सिस्‍टम को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है. वहीं ऐसा दावा भी किया जा रहा है कि रूसी सेना ने चेर्नोबल के न्यूक्लियर प्लांट पर कब्जा कर लिया है. बता दें कि रूस पर अब तक यूक्रेन पर 203 हमले करने का दावा किया है जबकि यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय का कहना है कि उनकी सेना ने रूस के 90 सैनिकों को बंधक बना लिया है.

रूस के रक्षा मंत्रालय की ओर से बयान जारी करते हुए कहा कि सेना ने यूक्रेन में 11 एयर फील्डस समेत 70 से अधिक सैन्य ठिकानों को पूरी तरह से नष्ट कर दिया है. रूस के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता इगोर कोनाशेनकोव ने कहा, रूसी सेना की ओर से किए गए हमले के बाद यूक्रेन की 74 सैन्य सुविधाएं पूरी तरह से बर्बाद हो गई हैं. उन्होंने कहा कि ध्वस्त किए गए सैन्य ठिकानों में 11 हवाई क्षेत्र भी शामिल हैं. उन्होंने कहा कि यूक्रेन का एक सैन्य हेलीकॉप्टर और चार ड्रोन भी मार गिराए गए हैं.

रूस के हमले का अब यूक्रेन ने भी जवाब देना शुरू कर दिया है. यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की का कहना है कि हम रूस के सामने सरेंडर नहीं करेंगे. रायटर्स से मिली जानकारी के मुताबिक यूक्रेन के रक्षा मंत्रालय की तरफ से बयान जारी करते हुए कहा गया है कि यूक्रेन के सैनिकों ने रूस के 6 प्लेन मार गिराए हैं. इसके साथ ही यूक्रेन के 50 रूसी सैनिक मारे गए हैं और 2 टैंक भी नष्ट किए गए हैं.

नाटो के महासचिव ने पहले ही रूस को कड़ी चेतावनी दे दी है

यूक्रेन पर रूस के हमले के बीच NATO के महासचिव जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा है कि अगर रूस ने इसी तरह से यूक्रेन पर हमला जारी रखा तो उसके हमले का जवाब देने के लिए हमने 100 से अधिक लड़ाकू विमानों को हाई अलर्ट पर रखा है. जेन्स स्टोलटेनबर्ग ने कहा, हमारे पास अपने हवाई क्षेत्र की रक्षा करने के लिए 100 से अधिक लड़ाकू विमान और भूमध्‍य सागर तक समुद्र में 120 से अधिक युद्धपोत हाई अलर्ट पर हैं. उन्‍होंने कहा कि यूक्रेन में जिस तरह के हालात बने हुए हैं उसके बाद नाटो यूक्रेन के साथ पूरी ताकत और एकजुटता के साथ खड़ा है. नाटो के सभी सदस्‍य देश के साथ ही यूरोपीय संघ भी रूस पर कड़े प्रतिबंध लगा रहे हैं. हम सभी देश यूक्रेन के साथ खड़े है. हम अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था इस तरह के उल्लंघनों को कभी भी स्वीकार नहीं करेंगे.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles