रूस ने लगाया ब्रिटिश एयरलाइंस पर प्रतिबंध, कहा नजर आते ही ढेर कर देंगे

मनोरंजनरूस ने लगाया ब्रिटिश एयरलाइंस पर प्रतिबंध, कहा नजर आते ही ढेर कर देंगे

मॉस्को: यूक्रेन पर हमले के बाद यूके ने रूस के खिलाफ कई प्रतिबंधों की घोषणा की थी, जिसपर अब रूस ने पलटवार किया है. यूके ने अपने हवाई क्षेत्र से रूसी विमानों के गुजरने पर बैन लगाया था, तो अब ऐसा ही कदम रूस ने भी उठा लिया है.

रूस ने यूके की एयरलाइंस के अपने हवाई क्षेत्र में गुजरने पर प्रतिबंध तो लगाया ही है, साथ ही कहा है कि वो किसी भी ब्रिटिश एयरक्राफ्ट को अपनी सीमा में पाते ही ढेर कर देगा. ऐसे में जिम्मेदारी ब्रिटेन की होगी. बता दें कि रूस ने ये कदम ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की उस कार्रवाई के जवाब में उठाया गया जिसमें उन्होंने रूसी एयरलाइंस एअरोफ़्लोत को यूके में एयरस्पेस देने से मना कर दिया था.

यूके ने माना-रूस ने लगाया ब्रिटिश एयरलाइन पर बैन

ब्रिटिश एयरलाइंस पर बैन लगाने को लेकर यूके के रक्षा सचिव बेन वालेस ने कहा, बदले की भावना से यह प्रतिबंध लगाया गया है, क्योंकि गुरुवार को हमने एअरोफ़्लोत को यूनाइटेड किंगडम के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल करने और उतरने से रोक दिया था.

रूसी राष्ट्रपति पुतिन की तरफ से यूके की उड़ानें रोके जाने के बाद ब्रिटिश एयरवेज ने एक बयान में कहा कि वह रद्द उड़ानों को लेकर अपने यात्रियों को सूचित कर रहा है और टिकट की पूरी धनराशि वापस करेगा. बता दें कि यूके का ब्रिटिश एयरवेज लंदन और मॉस्को के बीच कई उड़ानें संचालित करता है. लेकिन अब ये उड़ानें थम गई हैं. ऐसा रूस ने यूके के जवाब में किया है.

किराया वापस करेगी ब्रिटिश एयरलाइन

ब्रिटिश एयरलाइन ने कहा, “असुविधा के लिए हम माफी चाहते हैं लेकिन यह पूरी तरह हमारे नियंत्रण से बाहर का मामला है. हम हालत की बारीकी से निगरानी करना जारी रखेंगे. गुरुवार को यूक्रेन पर मास्को के आक्रमण के जवाब में ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने रूस की राष्ट्रीय एयरलाइन एअरोफ़्लोत पर देश में उतरने पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा की थी.

बता दें कि रूसी एयरलाइंस को आमतौर पर एअरोफ़्लोत के रूप में जाना जाता है. यह रूसी संघ की ध्वज वाहक और सबसे बड़ी एयरलाइन है. साल 1923 में शुरू हुई एअरोफ़्लोत दुनिया की सबसे पुरानी सक्रिय एयरलाइनों में से एक है.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles