ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के दौरान मिले शिवलिंग और फव्वारा बताने वाले दावे को लेकर देवबंद उलेमा और भाजपा आमने-सामने हो गई है। शनिवार को देवबंद में हुए जमीयत-उलेमा-ए-हिंद के प्रमुख मौलाना महमूद मदनी के दिए गए बयान पर भाजपा ने हमला बोल दिया। भाजपा ने मौलाना महमूद मदनी के बयान को स्वार्थी बताया।

उन्होंने मुसलमानों को गुमराह करने का भी आरोप लगाया। भाजपा नेता के विरोध के बाद देवबंद के मौलाना मसूद मदनी ने टीवी डिबेट में ज्ञानवापी मामले को लेकर सफाई दी, हालांकि यहां मौलाना मसूद मदनी भी भाजपा नेता की बात सुनकर भड़क गए और बोले- लाल किला, ताजमहल भी ले लें और उस पर बुलडोजर चलवा दें।

मौलाना ने कहा, ज्ञानवापी को लेकर कोर्ट में जो मामला चल रहा है उसको लेकर हमे सड़कों पर नहीं जाना चाहिए। ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे के दौरान मिला पत्थर शिवलिंग है या फव्वारा इसका फैसला जज करेंगे। जज का काम है किस तरह से जांच की जाएगी। इसको डिबेट का भी हिस्सा नहीं बनना चाहिए। उन्होंने लोगों को नसीदत देते हुए कहा, हर आदमी जज न बने।

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर वायरल हुए वीडियो पर मौलाना मदनी ने कहा, वीडियो कैसे वायरल हुई? यह कोर्ट का मैटर है, इसे बाहर नहीं आना चाहिए। टीवी डिबेट के दौरान मदनी ने बिना नाम लिए भाजपा को खुश करने करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, किसी एक पार्टी को खुश करने की कोशिश नहीं होनी चाहिए।  

देवबंद में हुए सम्मेलन में यह बोले थे महमूद मदनी

ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर देवबंद में आयोजित दो दिवसीय सम्मेलन में मुस्लिम संगठन जमीयत-उलेमा-ए-हिंद के प्रमुख मौलाना महमूद मदनी ने कहा था, देश में मुसलमानों का चलना दूभर कर दिया गया है और बात अखंड भारत बनाने की की जाती है। आप इस मुल्क के साथ दुश्मनी कर रहे हैं, आप पीछे मुड़ के देखें, आप क्या पा रहे हैं और क्या खो रहे हैं। मदनी ने कहा, हम कमजोर हैं और हर जुल्म बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन अपने वतन पर आंच कभी बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं।

ऐसा हमारी कमजोरी की वजह से नहीं, बल्कि हमारा मजहब हमें सिखाता है। मदनी ने कहा था कि हमारे बुजुर्गों ने बहुत मेहनत से मुल्क को आजादी दिलाई है और अगर किसी ने किसी चीज को हासिल करने के लिए कुर्बानी दी होती है तो उसे उस चीज की, उस घर की ज्यादा फिक्र होती है। 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment