पंजाब कांग्रेस (Punjab Congress) में बगावत थमने का नाम नहीं ले रही है. नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह (CM Captain Amrinder Singh) के बीच विवाद गहराता दिख रहा है. पंजाब में कैप्टन के खिलाफ सिद्धू खेमे की बगावत का असर दिख रहा है. 40 विधायकों के कैप्टन के खिलाफ चिट्ठी लिखने के बाद आज शनिवार को विधायक दल की बैठक होनी है. चंडीगढ़ के सेक्टर 15 स्थित पंजाब कांग्रेस भवन में आज शाम 5 बजे कांग्रेस विधायक दल की बैठक होगी.

सिद्धू खेमे के करीब 40 विधायकों ने कैबिनेट मंत्री तृप्त राजेंद्र सिंह बाजवा के नेतृत्व में आलाकमान को चिट्ठी लिखकर जल्द से जल्द कांग्रेस विधायक दल की बैठक बुलाने का निवेदन किया था. ये वो खेमा है जो कैप्टन से इस बात को लेकर नाराज है कि सिद्धू का समर्थन करने की वजह से इनके इलाकों में इनके चहेते अफसर बदल दिए गए और सरकार में इनकी सुनी नहीं जाती. ये तमाम बातें इन विधायकों ने चिट्ठी में लिखी थी और कैप्टन के प्रति असंतोष जताते हुए दो केंद्रीय पर्यवेक्षकों की अगुवाई में कांग्रेस विधायक दल की बैठक जल्द से जल्द बुलाने की सोनिया गांधी से अपील की थी.

पंजाब कांग्रेस के इन्चार्ज हरीश रावत ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा था कि शनिवार शाम को होने वाली विधायक दल की बैठक के लिए ‘बड़ी संख्या’ में निवेदन किया गया था. हरीश रावत, अजय माकन और हरीश चौधरी के साथ आज शाम को चंडीगढ़ पहुंचेंगे. पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने माकन और चौधरी को ऑब्सर्वर नियुक्त किया है.

कैप्टन ने बुलाए करीबी विधायक

विधायक दल की बैठक का पता चलते ही मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने भी अपने विधायकों को बैठक के लिए बुला लिया है. माना जा रहा है कि विधायक दल की बैठक कांग्रेस हाईकमान के 18 सूत्रीय फॉर्मूले को लेकर है. हालांकि बगावत पर उतरे विधायकों को देखकर स्पष्ट लग रहा है कि कैप्टन के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की तैयारी है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment