‘रावण नेक इंसान जबकि राम शातिर था’, लवली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर का वीडियो सामने आने के बाद सस्पेंड

शिक्षा'रावण नेक इंसान जबकि राम शातिर था', लवली यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर का वीडियो सामने आने के बाद सस्पेंड

राम (Ram) का अपमान करने वाला वीडियो वायरल होने के बाद लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी (LPU) ने प्रोफेसर गुरसंग प्रीत कौर को बर्खास्त कर दिया है। यूनिवर्सिटी ने अपने आधिकारिक इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक बयान जारी करते हुए इस घटना पर खेद जताया है। उन्होंने कहा, “भगवान राम का अपमान करने वाली प्रोफेसर का वीडियो सामने आने के बाद उसे बर्खास्त कर दिया गया है।”

बयान में कहा गया है, “हम यह भली-भाँति समझते हैं कि सोशल मीडिया पर शेयर किए गए वीडियो से कई लोग आहत हुए हैं, जिसमें हमारी यूनिवर्सिटी की एक प्रोफेसर को उनकी व्यक्तिगत राय रखते हुए सुना जा सकता है।” विश्वविद्यालय ने आगे कहा, “हम स्पष्ट करना चाहते हैं कि यह उनका व्यक्तिगत विचार है, जिसका विश्वविद्यालय किसी भी प्रकार से समर्थन नहीं करता है। हमारा धर्मनिरपेक्ष विश्वविद्यालय है, जहाँ सभी धर्मों और जाति के लोगों के साथ प्यार और सम्मान के साथ समान व्यवहार किया जाता है।”

राम बुरे, रावण अच्छा प्रोफेसर बर्खास्त

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में बर्खास्त प्रोफेसर गुरसंग प्रीत कौर राम को बुरा इंसान बताती हैं। वह कहती हैं, “राम बुरा इंसान था। राम ने रावण जैसे नेक दिल इंसान के साथ छल किया।” कौर वीडियो में अपने छात्रों को बता रही हैं कि राम ने रावण का वध करने के लिए सीता के अपहरण की साजिश रची थी, ना कि रावण की, जिसने सीता का अपहरण किया और उन्हें लंका ले गया।

वह यहीं नहीं रुकतीं। बार-बार एक ही बात को दोहराती हैं। कौर छात्रों को राम के खिलाफ कहती हैं, “क्या आप जानते हैं कि रावण एक नेक दिल इंसान था? जबकि राम अच्छा इंसान नहीं था। राम बेहद शातिर था, जिसने चतुराई से सीता के अपहरण की योजना बनाई और रावण को बुरा इंसान साबित कर दिया।” इसके बाद प्रोफेसर छात्रों से अपने तर्कों पर विचार करने के लिए कहती हैं।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles