कानपुर. मस्जिदों (Mosques) में लगे लाउड स्पीकर (Loudspeaker) से होने वाली अजान को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है. अजान की तेज आवाज को बंद कराने के लिए राष्ट्रीय बजरंग दल (National Bajrang Dal) अभियान चलाने जा रहा है. यह संगठन कानपुर में एक लाख लोगों से हस्ताक्षर करा कर माहौल बनाने का काम करेगा. संगठन के पदाधिकारी हस्ताक्षर युक्त एक लाख पोस्ट कार्ड संग राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपाने की बात कह रहे हैं. कानपुर शहर में मिश्रित आबादी वाले इलाकों में तेज आवाज में अजान होती है, जिसे रोकने को लेकर शहर में अभियान चलाया जाएगा.

जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ता शहर भर में अभियान चला कर धर्मिक आयोजन के नाम पर शोर गुल के खिलाफ माहौल बनाने का काम करेंगे. इसके साथ ही लोगों की भावनाओं को पोस्टकार्ड में दर्ज कराने के साथ राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा जाएगा. राष्ट्रीय बजरंग दल के प्रांत महामंत्री रामजी त्रिपाठी ने कहा कि न्यायलय के आदेशों के बाद भी मस्जिदों में लाउडस्पीकर से अजान हो रही है. इससे ध्वनि प्रदूषण फैलता है. उन्होंने बताया कि बिना लाउडस्पीकर के अजान पढ़ी जानी चाहिए. इससे सभी को सहूलियत होगी. रामजी ने कहा कि लाउडस्पीकर हटाने को लेकर एक लाख लोगों से हस्ताक्षर कराएंगे. 22 फरवरी से शहर के अलग अलग इलाकों में हस्ताक्षर अभियान चला कर लोगों को जागरुक किया जाएगा.

मुद्दों से भटकाने के लिए ऐसा किया जा रहा है

माुगहवहीं, मुस्लिम समाज के लोग लाउड स्पीकर से अजान पर रोक के अभियान को गैर जरूरी बताते हैं. मुस्लिम स्कॉलरों का कहना है कि मस्जिद में अजान का हक उन्हें संविधान देता है. इस अभियान के जरिए लोगों को भटकाने का काम किया जा रहा है.

चुनावों फायदा लेने के लिए इस तरह के अभियान चलाया जा रहा है. अजान तो केवल वक्त पर ही की जाती है, इसे कोई नही रोक सकता. मुस्लिम स्कॉलर जुबैर अहमद फारुखी ने कहा कि सियासत के लोग अपने नापाक इरादों को पूरा करने के लिए इस तरह की तंजीमें बनाते हैं.

जो चुनाव में एक दल विशेष को फायदा पहुंचाने के लिए ऐसे अभियान चलाती हैं. इस अभियान से आवाम को कोई फायदा नहीं होगा. लोगों का ध्यान असल मुद्दों से भटकाने के लिए ऐसा किया जा रहा है. 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *