राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद में विशेष समुदाय के एक बुजुर्ग की कनपटी पर तमंचा रखकर जय श्रीराम का नारा लगवाने का मामला सामने आया है। यह वारदात दस दिन पहले की है। उस समय सामान्य धाराओं में मुकदमा भी दर्ज हुआ था। अब सोमवार को संबंधित वीडियो वायरल के बाद लोनी बार्डर कोतवाली पुलिस ने मुकदमे में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की धारा बढ़ाते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है। पुलिस बाकी आरोपियों की तलाश कर रही है।

गौरतलब है कि अनूपशहर बुलंदशहर के रहने वाले बुजुर्ग सूफी अब्दुल समद पांच जून की दोपहर लोनी बार्डर थाने के बेहटा हाजीपुर गांव में दरगाह वाली मस्जिद में जा रहे थे। लोनी बार्डर थाने के पास एक आटो चालक ने उन्हें मस्जिद तक पहुंचाने का झांसा देकर अपने आटो में बैठा लिया।

बु़जुर्ग का आरोप है कि आटो में चालक के अलावा तीन अन्य साथी भी बैठ गए। इसके बाद आरोपी उन्हें रेलवे अंडरपास के पास सुनसान स्थान पर ले गए। उसने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की और किसी अज्ञात स्थान पर बने कमरे में ले गए, जहां आरोपी और उसके साथियों ने कनपटी पर तमंचा रखकर उनसे धार्मिक नारे लगवाए।

पीड़ित ने वायरल वीडियो में बताया कि आरोपियों ने दो कैंची निकालकर उससे उनकी दाढी काट दी। घंटों उन्हें प्रताड़ित करने के बाद आरोपियों ने उन्हें रेलवे लाइन के किनारे छोड़ दिया। किसी तरह वह लोगों से रास्ता पूछकर पैदल ही शहीदनगर में रहने वाली अपनी बेटी के घर पहुंचे। फिर सात जून को लोनी बार्डर थाने पहुंचकर अज्ञात आटो चालक व उसके तीन साथियों के खिलाफ तहरीर दी। पुलिस ने बताया कि तहरीर के अधार पर उसी समय आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी गई थी।

वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस
पुलिस ने सात जून को ही आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था, लेकिन जांच अभी शुरू नहीं हो पायी थी। इसी बीच सोमवार को पीड़ित का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा। इसे देखते हुए पुलिस ने आनन फानन में मुकदमें में धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की धारा बढ़ाते हुए एक आरोपी को दबोच लिया। नवनियुक्त थाना प्रभारी अखिलेश मिश्रा ने बताया कि आरोपी को सोमवार को ही अदालत में पेश कर जेल भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। सीओ लोनी अतुल कुमार सोनकर ने बताया कि पकड़े गए आरोपी की पहचान प्रवेश पुत्र सुरेश निवासी रामविहार लोनी के रूप में हुई है। बाकी आरोपियों की तलाश कराई जा रही है।

मामला संज्ञान में आने के बाद एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की भी पहचान हो गई है। बहुत जल्द सभी आरोपी सलाखों के पीछे होंगे। – डॉ. ईरज राजा, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment