10.8 C
London
Wednesday, February 21, 2024

RSS पर भड़के राकेश टिकैत, बोले- ये गोडसे का मंदिर बनवाना चाहते हैं, देश में घुसा सरकारी तालिबान

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

हरियाणा के करनाल में किसानों पर हुए लाठी चार्ज के बाद भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत भाजपा सरकार पर और ज्यादा हमलावर हो गए हैं। टिकैत ने एक सभा के दौरान कहा कि सरकार ने लाठी चलवाकर ठीक नहीं किया और इसे भूला नहीं जाएगा। उन्होंने कहा, हमने तो ता-ज़िंदगी लड़ाई लड़ी है। आपने तो न अंग्रेजों की खिलाफ लड़ाई लड़ी और न ही मुगलों के खिलाफ। इसके बाद उन्होंने आरएसएस को निशाने पर लिया।

टिकैत ने कहा, ‘आप बचकर नहीं जाओगा। आप तो महात्मा गांधी की हत्या करने वाले को पूजते हो। इनका क्या रिश्ता है उससे? ये आरएसएस के लोग गोडसे का मंदिर बनवाना चाहते हैं। जो महात्मा गांधी की हत्या करके उनको पूजते हों, ये किस तरह का राष्ट्रवाद है?’ वहीं राकेश टिकैत ने मेघालय के राज्यपाल सत्यपाल मलिक की तारीफ भी की। उन्होंने कहा, बनना है तो सत्यपाल मलिक जैसा बनो, जो गवर्नर होते हुए कह पाते हैं कि खट्टर ने किसानों पर लाठियां चलवाकर गलत किया।

बता दें कि करनाल की घठना के बाद सत्यपाल मलिक ने हरियाणा सरकार पर तीखा हमला बोलते हुए कहा था कि लाठीचार्ज का आदेश देने वाले अधिकारी को तत्काल बर्खास्त किया जाना चाहिए। उन्होंने 600 किसानों की मौत की बात पर केंद्र सरकार की भी आलोचना की थी। उन्होंने कहा था, केंद्र की तरफ से बल प्रयोग करने का आदेश नहीं हुआ था लेकिन सीएम किसानों को पिटवा रहे हैं।

गौरतलब है कि किसानों का कथित तौर पर सिर फोड़ने का आदेश देने वाले आईएएस अधिकारी आयुष सिन्हा का तबादला हो गया है। सीएम खट्टर ने भी एसडीएम के शब्दों को गलत बताया था।

राकेश टिकैत ने आयुष सिन्हा के मामले में कहा कि वह आरएसएस का बंदा है और आईएएस बन चुका है। ‘सरकारी तालिबानी’ देश में घुस चुके हैं। उन्होंने कहा, अगर आप हमको खालिस्तानी कहेंगे तो हम आपको सरकारी तालिबान कहेंगे। आपका तालिबानी कमांडर करनाल में है और किसान उसको माफ नहीं करेंगे। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार चाहती थी कि इस आंदोलन में कत्लेआम हों।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here