राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दावा किया है कि 2013 में अधिकारियों की वजह से कांग्रेस पार्टी चुनाव हार गयी थी. सीएम गहलोत ने कहा कि आखिरी तक अधिकारी यही बताते हैं कि हम चुनाव जीत रहे हैं मगर सब लोगों को पता है कि चुनाव में क्या हुआ.

बता दें कि साल 2013 में गहलोत सरदारपुरा से चुनाव जीते थे हालांकि कांग्रेस हार गई थी.

गौरतलब है कि 2013 में राजस्थान में कांग्रेस के इतिहास में सबसे कम 21 सीटें आयी थीं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपने निवास पर 58 बोर्ड, निगम, आयोगों में राजनीतिक नियुक्तियां आए नेताओं से मिल रहे थे, जब उन्होंने ये सब कहा. गहलोत ने विधायकों से दो टूक कह दिया कि विधायकों को राज्यमंत्री का दर्जा नहीं दे पाएंगे, क्योंकि यह लाभ का पद है. इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की क्लीयर रूलिंग है.

गहलोत ने विधायकों को कहा कि वे बिना राज्य मंत्री का दर्जा पाए काम करें और जनता से फीडबैक लेकर हमें बताएं, क्योंकि पिछली बार अधिकारियों ने गलत फीडबैक दे दिया.

तीन साल से ज्यादा समय बीतने के बाद कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और विधायकों को राजनीतिक नियुक्तियां मिली हैं, मगर अभी भी बड़ी संख्या में पद खाली हैं और पार्टी के अंदर जिस तरह से राजनीतिक नियुक्तियां दी गई हैं उसके लिए भारी असंतोष भी है. सूत्रों के अनुसार रीट पेपर आउट मामले में भी सरकार के अंदर चर्चा हुई कि चाहे विपक्ष कितना भी हंगामा कर ले CBI को जांच नहीं दी जाएगी. गौरतलब है कि पिछले तीन दिनों से रीट मामले को लेकर विधानसभा नहीं चल पा रही है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment