‘राहुल के कप्तान बनते ही दो गुटों में बंटी टीम इंडिया, विराट के खिलाफ हुए ये प्लेयर’

मनोरंजन'राहुल के कप्तान बनते ही दो गुटों में बंटी टीम इंडिया, विराट के खिलाफ हुए ये प्लेयर'

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट में पिछले कुछ समय से तूफान मचा हुआ है. पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) तीनों फॉर्मेट से अपनी कप्तानी गंवा चुके हैं. वहीं बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली से उनका लगातार विवाद चल ही रहा है. हाल ही में रोहित शर्मा के चोटिल होने के बाद सेलेक्टर्स ने केएल राहुल को दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए कप्तान नियुक्त किया गया. इसी बीच एक दिग्गज खिलाड़ी ने यहां तक दावा कर दिया है कि टीम इंडिया अब दो गुटों में बंट चुकी है.

दो गुटों में बंटी टीम इंडिया? 

पाकिस्तान के पूर्व लेग स्पिनर दानिश कनेरिया ने दावा किया है कि पार्ल में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले एकदिवसीय मैच के दौरान भारतीय ड्रेसिंग रूम बंटा हुआ दिख रहा था. उन्होंने कहा कि भारतीय टीम को दो समूहों में बांटा गया है, एक स्टैंड-इन कप्तान केएल राहुल की तरफ और दूसरा पूर्व कप्तान विराट कोहली की तरफ. ‘केएल राहुल और विराट कोहली अलग-अलग बैठे थे. साथ ही, कोहली उस मूड में नहीं में नहीं लग रहे थे. कनेरिया ने अपने यूट्यूब चैनल पर एक वीडियो में कहा, ‘भारतीय टीम मजबूती के साथ वापसी करेगी.’

‘केएल राहुल ने की खराब कप्तानी’

पहले वनडे मैच में, दक्षिण अफ्रीका ने बल्लेबाजी करने के बाद, टेम्बा बावुमा (110) और रस्सी वैन डेर डूसन (129) के शतकों के साथ 50 ओवरों में चार विकेट खोकर 296 रन बनाए, जबकि 204 रनों की साझेदारी की. भारत के लिए, उप-कप्तान जसप्रीत बुमराह ने शानदार गेंदबाजी की. कनेरिया ने महसूस किया कि राहुल ने भारत के कप्तान के रूप में अपने पहले वनडे मैच में एक कप्तान की भूमिका अच्छे से नहीं निभाई. ‘एक समय ऐसा नहीं लग रहा था कि दक्षिण अफ्रीका स्कोरबोर्ड पर 296 रन बनाएगा. भारतीय टीम की तीव्रता की कमी से विपक्ष ने इतना बड़ा स्कोर बनाया.’

पार्ल की धीमी पिच पर 297 रनों का पीछा करते हुए, शिखर धवन (79) और विराट कोहली (51) ने भारत को एक अच्छी स्थिति में ला दिया था, लेकिन उनके जाने के बाद मध्य क्रम में कोई भी बल्लेबाज नहीं टिक पाया. आखिरकार, भारत 50 ओवर में आठ विकेट खोकर 265 रन बना पाया, जिसमें शार्दुल ठाकुर का नाबाद अर्धशतक भी शामिल है.

खड़े किए ये अहम सवाल

कनेरिया ने राहुल से भारत के लिए सुधार क्षेत्रों की ओर इशारा करते हुए अपनी बात समाप्त की. उन्होंने कहा, ‘राहुल को कप्तानी और बल्लेबाजी बढ़ाने की जरूरत है. उन्हें टीम को उठाने की जरूरत है. साथ ही, भुवनेश्वर कुमार ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ कई रन दिए और अश्विन-चहल की जोड़ी कुलदीप-चहल की जोड़ी की तरह प्रभावी नहीं दिखी। भारत ने वेंकटेश अय्यर की गेंदबाजी का उपयोग नहीं किया.’ दूसरा वनडे शुक्रवार को दोमों टीमों के बीच खेला जा रहा है.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles