[email protected]

पेगासस जासूसी कांड पर बोले राहुल गांधी, कहा: ये सिर्फ देशद्रोह है

- Advertisement -
- Advertisement -

दिल्ली। पेगासस जासूसी कांड पर आज पत्रकारों से बातचीत में राहुल गांधी ने गंभीर सवाल किए हैं।

राहुल गांधी ने कहा : पेगासस जासूसी मामले में गृह मंत्री का इस्तीफा होना चाहिए और नरेंद्र मोदी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच होनी चाहिए।

क्योंकि पेगासस जैसे हथियार का इस्तेमाल इस देश के संस्थानों एवं लोकतंत्र के खिलाफ किया गया है।

प्रधानमंत्री को लगता है कि वो सब को खरीद सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं होता है। ये उनकी गलतफहमी है।

राफेल घोटाले को दबाने की चाहे जितनी भी कोशिश कर लें, सच एक दिन सामने आएगा। मैं लगातार कह रहा हूं कि राफेल डील में बड़ा घोटाला हुआ है। अब सच सामने आने लगा है। फ्रांस में जांच शुरू हो चुकी है। आप देखेंगे कि इसमें सीधा प्रधानमंत्री का नाम आएगा।

मेरा फोन टैप किया गया। ये मेरी प्राइवेसी का मामला नहीं है। मैं जनता की आवाज उठाता हूं। नरेंद्र मोदी ने इस हथियार को हमारे देश के खिलाफ इस्तेमाल किया है। गृह मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। PM और गृह मंत्रालय के अलावा इसका ऑथराइजेशन कोई कर नहीं सकता है।

इंटेलिजेंस के कई अधिकारी मुझसे कह चुके हैं कि सर आपका फोन टैप किया जा रहा है। मेरे दोस्तों को फोन करके कहा जाता है कि आप राहुल गांधी से कह दीजिए कि उन्होंने फोन पर ये बात कही थी, लेकिन मैं डरता नहीं हूं और इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता।

पेगासस को इजराइली सरकार ने हथियार के तौर पर क्लासीफाई किया है। हमारे PM और गृह मंत्री ने लोकतंत्र के खिलाफ इसे इस्तेमाल किया। यह जनता की आवाज पर आक्रमण है।

PegasusSnoopgate देशद्रोह का मामला है।

हमारी सीधी सी माँग है- सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में इसकी न्यायिक जाँच हो ताकि देश को पता चले कि ये देशद्रोह किसके कहने पर किया गया- PM या HM?

पेगासस जासूसी का सॉफ्टवेयर है। भारत में पेगासेस हथियार में कैटेगराइज किया गया है। सुप्रीम कोर्ट और राफेल की जांच को रोकने के लिए पेगासस का प्रयोग किया गया। गृहमंत्री और नरेंद्र मोदी के खिलाफ न्यायिक जांच की जानी चाहिए।

आतंकियों के खिलाफ इस्तेमाल होने वाले पेगासस का यूज़ भारत सरकार ने सुप्रीम कोर्ट जैसी संस्था के खिलाफ किया।

मैंने कुछ गलत नहीं किया है इसलिए मैं मोदी से नहीं डरता हूं।

फेसबुक पर ताजा ख़बरें पाने के लिए लाइक करे

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -
×