मध्य प्रदेश के खरगोन में हुई हिंसा के दौरान इरबिस खान की मौत के मामलों में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, तीन अभी भी फरार बताए जा रहे हैं. आरोपियों ने कबूला है कि उन्होंने इरबिस संग मारपीट की थी. बताते चलें कि परिजनों 14 अप्रैल को इरबिस की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी.

परिजनों ने जो हुलिया बताया वह हिंसा के दौरान मिली एक लाश से मिलता जुलता था.परिवार को लाश दिखाई गई तो सारी तस्वीर साफ हो गई. इस मामले में एक आरोपी पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (NSA) के तहत केस दर्ज किया गया है. वहीं, तीन आरोपी अभी फरार हैं.    

बताते चलें कि रामनवमी के दिन हुई हिंसा के दौरान आनंद नगर पुलिस को यह लाश कपास मंडी में मिली थी. अज्ञात होने के कारण इसे इंदौर फ्रीजर में रखा गया था. परिवार द्वारा शिनाख्त के बाद शव सौंपा गया और शिनाख्त तेज की गई. इरबिस के बड़े भाई ने हत्या के आरोप लगाए, जिसके आधार पर इलाके के पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया. जब उनसे सख्ती से पूछा गया तो उन्होंने हत्या की बात स्वीकार कर ली.

तीन आरोपी अभी भी फरार चल रहे हैं जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा. इस मामले में आरोपी दिलीप, संदीप, अजय कर्मा, अजय सोलंकी और दीपक प्रधान को गिरफ्तार किया गया है. अभी तीन आरोपी फरार हैं. 

इबरिस खान की मौत हिंसा में हुई थी.

बता दें कि मध्य प्रदेश सरकार खरगोन में हुई हिंसा के आरोपियों के खिलाफ सख्त कदम उठाने में लगी है. इसी कड़ी में हिंसा के फरार 106 फरार आरोपियों पर भी 10-10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है. 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment