पंजाब के पठानकोट में रविवार सुबह माहौल उस समय तनावपूर्ण हो गया जब कुछ शरारती तत्वों ने गांव लाहड़ी महंता के श्मशानघाट की दीवार पर देश विरोधी नारा लिख दिया। इसकी भनक हिंदू संगठनों को लगी तो वहां लोगों का जमावड़ा हो गया। कुछ हिंदू संगठनों के लोगों ने वहां पहुंचकर रोष प्रदर्शन किया। 

सूचना पाकर थाना तारागढ़ प्रभारी राजेश हस्तीर पहुंचे और दीवार पर लिखे शब्दों पर काला पेंट कर मिटा दिया। हालांकि, पुलिस इस पूरे प्रकरण में चुप्पी साधे है। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने भी मीडिया से दूरी बनाए रखी। वहीं, हिंदू संगठनों में इस मामले को लेकर खासी नाराजगी है। शिवसेना टकसाली के राष्ट्रीय महामंत्री बिन्नी वर्मा ने बताया कि सुबह उन्हें सूचना मिली थी कि कीड़ी-सुंदरचक्क रोड पर गांव लाहड़ी महंता में श्मशानघाट की दीवार पर देश विरोधी नारे लिखे हैं। इसके बाद वह वहां पहुंचे और प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी जानकारी दी।

इसके बाद थाना प्रभारी पहुंचे और इसे मिटाकर चलते बने। उन्होंने कहा कि आए दिन कुछ शरारती तत्व पंजाब का माहौल खराब करने में लगे हैं। पंजाब की खुफिया एजेंसियां नींद में हैं। केंद्रीय एजेंसियों ने भी इन घटनाओं पर आंखें मूंदी हैं। बिन्नी वर्मा ने कहा कि पठानकोट जैसे शांतिप्रिय जिले में इससे पहले ऐसी कोई घटना देखने को नहीं मिली।  

वर्मा ने कहा कि श्री काली माता मंदिर (पटियाला) की घटना बेहद निंदनीय है। उन्होंने एसएसपी पठानकोट अरुण सैनी से अपील करते हुए कहा कि ऐसे शरारती तत्वों पर नकेल कसी जाए। उन्होंने कहा कि श्मशानघाट के पास पेट्रोल पंप पर सीसीटीवी लगे हैं। वहां से सुराग लेकर आरोपियों पर कार्रवाई की जाए। इस मौके पर मौजूद अमित वर्मा, बबलू वर्मा, बलवीर सिंह, अंकुश ककड़िया मौजूद रहे।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment