दूरसंचार नीति के अनुसार इस साल के आखिर तक देशभर में एक करोड़ सार्वजनिक वाई-फाई हॉटस्पॉट (wifi hotspots) स्थापित किए जाने पर दो-तीन करोड़ रोजगार अवसर पैदा होने की संभावनाएं है.

दरअसल दूरसंचार सचिव के राजारमण ने शनिवार को बॉडबैंड इंडिया फोरम (Broadband India Forum) के एक कार्यक्रम में यह बात कही है. उन्होंने वाई-फाई टूल निर्माताओं से कहा है कि, प्रधानमंत्री की वाई-फाई एक्सिस नेटवर्क इंटरफेस (पीएम-वाणी) योजना के विस्तार के लिए वाईफाई उपकरणों की कीमतें कम करने पर ध्यान दें. इसके साथ ही हर हॉटस्पॉट से रोजगार के 2-3 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार पैदा होने के अनुमान को ध्यान में रखें तो 2022 तक राष्ट्रीय डिजिटल संचार नीति के लक्ष्य को लेकर एक करोड़ हॉटस्पॉट के क्षेत्रों में नौकरियों के दो से तीन करोड़ अवसर पैदा होंगे.सार्वजनिक वाईफाई हॉटस्पॉट योजना में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने की भी भरपूर संभावनाएं हैं. यह छोटे स्थानीय और ग्रामीण इलाकों के लाखों उद्यमियों को रोजगार के अवसर देने का भी जरिया बन सकता है.देशभर में अबतक 56,000 से ज्यादा वाईफाई हॉटस्पॉटपीएम-वाणी योजना (PM-WANI) के तहत देश भर में अब तक 56,000 से ज्यादा वाईफाई हॉटस्पॉट लगाए जा चुके हैं. राजारमण के मुताबिक, मैन्युफैक्चरर्स को ज्यादा संख्या में पीएम-वाणी कार्यक्रम से जुड़ना चाहिए. इस मौके पर बीआईएफ ने मेटा (पूर्व में फेसबुक) के साथ साझेदारी में बीआईएफ कनेक्टिविटी एक्सिलेटर प्रोग्राम की शुरुआत की भी घोषणा की. इसके तहत उद्यमी और स्टार्टअप नए किस्म के कनेक्टिविटी समाधान तैयार करेंगे और सार्वजनिक वाईफाई वातावरण को समर्थन देंगे.बीआईएफ कनेक्टिविटी एक्सेलेरेटर प्रोग्राम शुरूउन्होंने कहा कि, हम चाहते हैं कि लोकल कम्यूनिटी पूरे दिल से PM-WANI योजना में शामिल हो. वहीं लोकल में मौजूदा उद्यमियों को विशेष रूप से स्थानीय केबल ऑपरेटरों, इंटरनेट सेवा प्रोवाइडर, पर्यटन ऑपरेटरों आदि को आगे आने और देश भर में WANI पहुंच बिंदुओं को बढ़ाने में उन्हें खुशी होगी. बता दें, बीआईएफ ने उद्यमियों और स्टार्टअप्स को कनेक्टिविटी समाधान बनाने और सार्वजनिक वाईफाई पारिस्थिति तंत्र का समर्थन करने में सक्षम बनाने के लिए मेटा के साथ साझेदारी में बीआईएफ कनेक्टिविटी एक्सेलेरेटर प्रोग्राम शुरू करने की घोषणा की है.बीआईएफ अध्यक्ष टी वी रामचंद्रन के मुताबिक, वर्चुअल प्रोग्राम स्टार्टअप्स को कंटेक्सुअल उपयोग के मामलों को विकसित करने और उनके व्यवसायों को बढ़ाने में मदद करने के लिए बीआईएफ के साथ साझेदारी करने का मौका देगा. वहीं सभी स्टेक होल्डर्स से एक साथ आने और इस राष्ट्रीय को तेजी से और प्रभावी ढंग से लागू करने के लिए हमारे साथ हाथ मिलाने की अपील भी की.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment