7.7 C
London
Wednesday, February 28, 2024

पकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने ऊईघर मुस्लिम मामले में चीन के दावे को किया स्वीकार

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने गुरुवार को कहा कि चीन के शिनजियांग प्रांत में उइगरों के उत्पीड़न संबधित दुनिया भर के दावों के बीच में पाकिस्तान ने चीन द्वारा बताए गए दावे को स्वीकार किया है जिसमें चीन ने हमेशा कहा है कि पश्चिम देश उसे बदनाम करने के लिए उइगर मुस्लिमों के खिलाफ की जा रही कार्यवाही को बढ़ा चढ़ा कर दिखाया जा रहा है ताकि अमेरिका जैसे देशों द्वारा चीन पर दबाव बनाने के लिए इसका इस्तेमाल कर सके जबकि दुनिया के कहीं ओर हिस्सो में हो रहे मुस्लिमों पर अत्याचार के खिलाफ बोलने के समय अमेरिका और उसके सहयोगी चूपी साथ लेते है.

डॉन अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, चीन की राजधानी बीजिंग में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के शताब्दी वर्ष के अवसर पर गुरुवार को चीनी पत्रकारों से बात करते हुए, क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान ने कहा कि चीनी संस्करण पश्चिमी मीडिया में बताई जा रही बातों से बिल्कुल अलग था।

इमरान खान ने मीडिया से बात करते हुए कहा की “यह पाखंडी है। दुनिया के अन्य हिस्सों जैसे कश्मीर में मानवाधिकारों के बहुत अधिक उल्लंघन हो रहे हैं। लेकिन पश्चिमी मीडिया शायद ही इस पर टिप्पणी करता है, ”

“चीन के साथ हमारी अत्यधिक निकटता और संबंधों के कारण, हम वास्तव में चीनी संस्करण को स्वीकार करते हैं।”

उन्होंने कहा कि यह पाखंड है कि जहां हांगकांग मामले के दौरान दुनिया भर का समर्थन लेने के लिए पश्चिम मीडिया उईघर मुस्लिमों के बारे में बढ़ा चढ़ा कर दिखा रहा था, वहीं कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन पर ध्यान नहीं दिया जा रहा था।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here