पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए चार राज्यों में सरकार बनाने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सुनामी दिखाई दी, इसके अलावा यूपी, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भाजपा ने दमदार प्रदर्शन किया है।

पीएम मोदी (Prashant Kishor) ने चार राज्यों के चुनावों में पार्टी को मिली जीत के बाद कहा था, “मैं मानता हूं कि राजनीतिक ज्ञानी अब ये कहेंगे कि 2022 के नतीजों ने 2024 के नतीजों को तय कर दिए हैं।” इस बयान पर चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने जो बोला है वह उनकी एक चालाक कोशिश है।

प्रशांत किशोर ने ट्वीट करते हुए कहा, “देश के लिए लड़ाई 2024 में लड़ी जाएगी और तभी नतीजे आएंगे, किसी राज्य में नहीं। साहेब जानते हैं! इसलिए इन नतीजों के जरिए विपक्ष के खिलाफ मनोवैज्ञानिक धारणा बनाने की चालाक कोशिश कर रहे हैं। इस झूठी कहानी में मत फंसिए।”

प्रशांत किशोर 2024 के महासमर के लिए विपक्ष को एक मंच पर लाने के लिए सूत्रधार की भूमिका निभाने की कोशिश करते रहे हैं। हालिया समय में प्रशांत किशोर ममता बनर्जी और एमके स्टालिन जैसे नेताओं के साथ काम करते हुए विपक्ष के लिए फेवरिट के तौर पर उभरे हैं।

दरअसल, पीएम मोदी ने भाजपा की जीत के बाद कहा था, “मैं आज यह भी कहूंगा कि 2019 के लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद, कुछ पॉलिटिकल ज्ञानियों ने कहा था कि 2017 के नतीजों ने 2019 के नतीजे तय कर दिए। मैं मानता हूं इस बार भी वो यही कहेंगे कि 2022 के नतीजों ने 2024 के नतीजे तय कर दिए।”

दरअसल, पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजे घोषित हो चुके हैं। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मणिपुर में भाजपा ने बहुमत के आंकड़ों को पार कर लिया, जबकि गोवा में भाजपा ने 20 सीटों पर जीत की और सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सदानंद शेद तनवड़े ने दावा किया कि तीन निर्दलीय विधायकों का समर्थन हासिल है। इस तरह से गोवा में भाजपा सरकार बनाने का दावा पेश कर सकती है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment