पीएम नरेंद्र मोदी का बृहस्पतिवार दोपहर बरेली के त्रिशूल एयरबेस पर पांच मिनट का चेंजओवर है.

उनके चेंजओवर से पहले बरेली के अफसर तैयारियों में जुटे नजर आए. इस दौरान पीएम मोदी के लिए पीने के पानी की तलाश में पूरी बरेली छान दी गई, लेकिन आखिर तक पीएम के लिए एक खास ब्रांड के पानी की बॉटल अफसरों को नहीं मिली. 

बरेली से लखनऊ तक पानी मंगाने के लिए जद्दोजहद

दरअसल, पीएम मोदी के लिए शहर के कई बड़े होटल, बिग बाजार, कीप्स कन्फेक्शनरी समेत तमाम स्थानों पर पानी की तलाश कराई गई, लेकिन कहीं से भी पानी नहीं मिला. इसके बाद लखनऊ से पानी लाने की कोशिश की गई. रात तक पानी को लेकर माथापच्ची चलती रही थी. बरेली के एक एसडीएम लखनऊ से लौट रहे थे. उनसे पानी मंगाने की कोशिश की गई, लेकिन कोई पॉजिटिव जवाब नहीं मिला.

हल्द्वानी में कार्यक्रम में शामिल होने जा रहे हैं पीएम

दरअसल, पीएम नरेंद्र मोदी का उत्तराखंड के हल्द्वानी में गुरुवार को कार्यक्रम है, जिसके चलते वह दिल्ली से विशेष विमान के द्वारा बरेली त्रिशूल एयरबेस पर 5 मिनट का चेंजओवर करेंगे. बरेली में अफसरों ने सभी तैयारियां कर ली हैं. मगर, प्रधानमंत्री के पीने वाले पानी की बॉटल बरेली में नहीं मिली. इसकी कीमत 60 से 70 रुपए प्रति लीटर है. हालांकि, पिछली बार शाहजहांपुर में आयोजित गंगा एक्सप्रेस वे के शिलान्यास के चेंजओवर के दौरान बरेली में पानी के यह बॉटल मिल गई थी.

पीएम बारिश होने पर सड़क मार्ग से जा सकते हैं

प्रधानमंत्री का त्रिशूल एयरवेस पर विशेष विमान से उतरने के बाद एमआई-17 हेलीकॉप्टर से हल्द्वानी जाने का कार्यक्रम है. मगर,बारिश होने पर प्रधानमंत्री को सड़क मार्ग से भी जाना पड़ सकता है. इसके लिए प्रशासन-पुलिस ने पूरी तैयारी की है. बरेली से नैनीताल रोड और बहेड़ी के आगे तक फोर्स की व्यवस्था रहेगी. इसके आगे उत्तराखंड की पुलिस का जिम्मा होगा. इसके साथ ही एयरवेस के पास स्थित एक फाइव स्टार होटल में ठहरने की भी व्यवस्था की गई है.

सांसद विधायक और संगठन पदाधिकारियों की मुलाकात 

पीएम के 5 मिनट के चेंजओवर के दौरान बरेली के सांसद संतोष गंगवार, आंवला सांसद धर्मेंद्र कश्यप, मंत्री छत्रपाल गंगवार, मेयर उमेश गौतम, जिला पंचायत अध्यक्ष रश्मि पटेल और सभी विधायक की मुलाकात होगी. पीएमओ से हरी झंडी मिल गई है. इसके साथ ही हल्द्वानी से लौटने के बाद चेंजओवर के दौरान जिला अध्यक्ष और महानगर अध्यक्ष समेत संगठन के पदाधिकारियों की मुलाकात होगी.

फूड सेफ्टी और सप्लाई विभाग के अफसरों को जिम्मेदारी दी गई थी. बरेली में पानी तलाश किया गया था, लेकिन मिला नहीं था. मगर, लोगों ने सभी व्यवस्था कर ली होगी- बरेली के सिटी मजिस्ट्रेट राजीव पांडे

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment