नई दिल्ली, 27 मई: ‘पावरी गर्ल’ के नाम से मशहूर पाकिस्तानी डांसर दानानीर मोबीन फिर से एक बार सोशल मीडिया पर सुर्खियों में हैं। ‘पावरी हो रही है…’ के मीम्स और उनके वीडियो के अलावा सोशल मीडिया यूजर्स दानानीर मोबीन के बारे में हर डिटेल जानने में भी रुचि रखते हैं। लेकिन इस बार पावरी गर्ल सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रही हैं। ट्विटर यूजर दानानीर मोबीन की आलोचना कर रहे हैं। सोशल मीडिया सेंसेशन बन चुकी पावरी गर्ल दानानीर मोबीन को इस हफ्ते पाकिस्तान की एक विज्ञान और प्रौद्योगिकी यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए बुलाया गया था, जो लोगों को बिल्कुल पसंद नहीं आया।

पावरी गर्ल को लेकर पूरे देश में है गुस्सा

पाकिस्तान की एक यूनिवर्सिटी के कार्यक्रम में विज्ञान और प्रौद्योगिकी के छात्रों को संबोधित करने के लिए सोशल मीडिया स्टार दानानीर मोबीन को आमंत्रित किए जाने पर पूरा देश गुस्से में है। सोशल मीडिया के महत्व और आज की जिंदगी में ये कितना हावी है, इसपर राय रखने के लिए दानानीर मोबीन को एक पैनल चर्चा के लिए आमंत्रित किया गया था

आखिर पावरी गर्ल से क्यों गुस्सा हैं पाकिस्तानी

19 साल की पाकिस्तानी सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर दानानीर मोबीन पाकिस्तान के शहीद जुल्फिकार अली भुट्टो इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एसजेडएबीआईएसटी) के मीडिया फेस्विटल में बतौर स्पीकर गई थीं। इस कार्यक्रम में ‘द इंस्टेंट रिवोल्यूशन- द राइज ऑफ डिजिटल स्टार्स’ विषय पर दानानीर मोबीन ने अपनी बात रखी। ये बात पाकिस्तान के लोगों को बिल्कुल रास नहीं आई और उन्होंने दानानीर मोबीन और यूनिवर्सिटी दोनों को सोशल मीडिया पर जमकर उल्टा-सीधा सुनाया है।

‘अब पावरी गर्ल समाज में शिक्षा की बात करेगी…’

जहां छात्रों का एक निश्चित वर्ग और समाज का एक तबका इस दानानीर मोबीन के इस कार्यक्रम में शामिल होने से खुश था, वहीं कुछ लोग इस बात को लेकर भड़क गए हैं। एक अन्य वर्ग ने छात्रों को प्रेरित करने के लिए जिस तरह के वक्ताओं को आमंत्रित किया, उससे बेहद निराश हो गए हैं।

बहुत से लोगों ने विश्वविद्यालय की भी आलोचना की है और अनुरोध किया है कि अगर पावरी गर्ल समाज में शिक्षा की बात करेगी, जिन्होंने जिंदगी में अभी कुछ भी हासिल नहीं किया है तो, ऐसे शैक्षणिक मानकों पर फिर से विचार किया जाना चाहिए।

‘वीडियो वायरल होने से क्या होता है…’

एक यूजर ने लिखा, ‘जिस पावरी गर्ल को शिक्षा पर बोलने के लिए बुलाया गया है, उसके नाम पर कोई आवश्यक शिक्षा नहीं है।’ वहीं एक यूजर ने सवाल किया कि वीडियो वायरल होने से क्या कोई शिक्षा पर ज्ञान देने के काबिल हो जाता है। एक ट्विटर यूजर ने लिखा, ”दानानीर को SZABIST ने मोटिवेशन स्पीकर के रूप में आमंत्रित किया? यह न केवल हमारे समाज बल्कि शैक्षणिक संस्थानों के भी गिरते मानकों को दिखाता है।”

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment