दिल्ली दंगों के आरोपी शाहरुख पठान को चार घंटे के पैरोल पर अपने परिवार से मिलने आए. यहां पर उनके मोहल्ले के लोगों ने शाहरुख का स्वागत किया, इसका वीडियो सोशल मीडया पर वायरल हो रहा है.

साल 2020 में पूर्वोत्तर दिल्ली में सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान एक पुलिसकर्मी पर बंदूक तानने वाले आरोपी शाहरुख पठान को चार घंटे की परौल मिली. यह परौल शाहरुख को उसके बीमार पिता से मिलने के लिए मिली थी. वहीं पैरोल पर बाहर आए शाहरुख का मोहल्ले के लोगों ने ग्रैंड वेलकम किया और शाहरुख के स्वागत का वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है.

शाहरुख पठान इस समय जेल में बंद हैं, शाहरुख के खिलाफ दिल्ली की एक अदालत ने दंगों से लेकर धार्मिक दुश्मनी तक बढ़ावा देने तक के कई अपराधों से संबंधित आरोप तय किए थे. पिछले हफ्ते शाहरुख को अपने बीमार पिता को देखने के लिए मानवीय आधार पर जेल से चार घंटे की पुलिस कस्टडी में पैरोल दी गई थी.

जब वह अपने घर की तरफ जा रहे था तो मोहल्ले के लोगों ने उसका जोरदार स्वागत किया. इतना ही लोगों ने शाहरुख पठान के चारों ओर घूमते हुए नारे भी लगाए. वहीं जब शाहरुख अपने घर से वापस लौटकर पुलिस के वैन पर चढ़ा तो अपने समर्थकों की तरफ मुस्कराता हुआ भी दिखा.

बता दें कि साल 2020 के दंगों के दौरान, जाफराबाद-मौजपुर इलाके से फुटेज सामने आए थे, जिसमें शाहरुख पठान पुलिस पर पिस्तौल लहराते हुए दिखाई दे रहा था. इस फुटेज के आधार पर उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया था और पठान को उत्तर प्रदेश के शामली जिले से गिरफ्तार किया गया था.

पुलिस ने कई धाराओं में किया था मामला दर्ज

वहीं पुलिस ने बाद में इस मामले में एक रोहित शुक्ला की शिकायत पर एक एक केस और दर्ज किया था, जिसने दावा किया था कि पठान ने दंगा और हिंसा के दौरान गोली भी चलाई थी. दिल्ली की एक अदालत ने पिछले साल पठान के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 186, 188 के तहत आरोप तय किए थे. साल 2020 में पूर्वोत्तर दिल्ली के कई हिस्सों में 23 फरवरी से 25 फरवरी के बीच सांप्रदायिक दंगे हुए, इस हिंसा में 53 लोगों की जान चली गई और 700 से अधिक लोग घायल हो गए.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment