आखिरकार अरबपति और टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने ट्विटर (Twitter) को खरीद लिया है. सोमवार को कंपनी के बोर्ड ने 44 अरब डॉलर के सौदे को मंजूरी दी.

ट्विटर ने कहा कि अधिग्रहण प्रक्रिया पूरी होने के बाद ये एक निजी स्वामित्व वाली कंपनी बन जाएगी. वहीं ट्विटर के सीईओ पराग अग्रवाल ने ट्वीट कर कहा कि ट्विटर का एक उद्देश्य और प्रासंगिकता है, जो पूरी दुनिया को प्रभावित करती है. हमारी टीम और उसके काम पर गर्व है. वहीं डील के ऐलान के बाद एलन मस्क ने फ्री स्पीच को लेकर ट्वीट (Tweet) किया और कहा कि बोलने की स्वतंत्रता लोकतंत्र का एक आधार है. साथ ही कहा कि ट्विटर एक डिजिटल टाउन स्क्वायर है, जहां मानवता के लिहाज से भविष्य के महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा होगी.

हालांकि इस डील के सार्वजनिक होने से पहले ही एलन मस्क ने ट्वीट कर कहा कि मुझे उम्मीद है कि मेरे सबसे बुरे आलोचक भी ट्विटर पर बने रहेंगे, क्योंकि फ्री स्पीच का यही मतलब है. इससे पहले सोमवार तड़के ही एलन मस्क ने ट्विटर को खरीदने की अपनी कोशिश के तहत ट्विटर के बोर्ड के साथ बातचीत की थी. एलन मस्क ने कहा था कि पिछले हफ्ते उन्होंने 46.5 अरब अमेरिकी डॉलर में ट्विटर को खरीदने की पेशकश की थी, जिसके बाद से वो सौदा करने के लिए कंपनी पर दबाव बना रहे हैं.

14 अप्रैल को एलन मस्क ने की थी ट्विटर को खरीदने की पेशकश

इसी महीने 14 अप्रैल को एलन मस्क ने ट्विटर को खरीदने की पेशकश की थी. एलन मस्क ने कहा है कि वो ट्विटर को इसलिए खरीदना चाहते हैं क्योंकि उन्हें नहीं लगता कि ये स्वतंत्र अभिव्यक्ति के मंच के रूप में अपनी क्षमता पर खरा उतर पा रहा है.

हाल ही में एलन मस्क ने ये भी स्वीकार किया कि ट्विटर को दुनियाभर के बाजारों में भाषण को नियंत्रित करने वाले राष्ट्रीय कानूनों का पालन करना होगा. हालांकि एलन मस्क खुद नियमित रूप से ट्विटर यूजर्स को ब्लॉक करते हैं, जिन्होंने उनकी या उनकी कंपनी की आलोचना की है और साथ ही ट्विटर का इस्तेमाल उन पत्रकारों को धमकाने के लिए किया है जिन्होंने उनके या उनकी कंपनी के बारे में महत्वपूर्ण लेख लिखे हैं.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment