15.1 C
Delhi
Monday, November 28, 2022
No menu items!

सर्जिकल स्ट्राइक पर बोले अनुराग ठाकुर टीआरएस कांग्रेस बताए वे सेना के साथ है या पाकिस्तान के

- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली, तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव (केसीआर) द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक का सुबूत मांगने पर केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस और तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) को जवाब देना चाहिए कि क्या वे भारतीय सेना के साथ हैं या पाकिस्तान के साथ।

उल्लेखनीय है तेलंगाना के मुख्यमंत्री राव ने केंद्र से सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत दिखाने को कहा है।

- Advertisement -

सर्जिकल स्ट्राइक के सुबूत मांगने में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि वे भी सुबूत मांग रहे हैं। राव ने कहा कि राहुल गांधी द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक का सुबूत मांगने में कुछ भी गलत नहीं है। मैं भी पूछ रहा हूं। चलो, भारत सरकार (सुबूत) दिखाए।

ठाकुर ने कहा कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री हुजूराबाद विधानसभा उपचुनाव हारने के बाद गुस्से में और घबराए हुए हैं। हुजूराबाद में सर्जिकल स्ट्राइक के बाद, उनका (राव) लहजा बदल गया है। वर्तमान में, वे एक चुनाव हार गए। एक चुनाव हारने के बाद यह स्थिति है। यह स्पष्ट रूप से दर्शाता है कि तेलंगाना के मैदान में केसीआर और टीआरएस हार रहे हैं।

ठाकुर ने कहा कि वे अब उत्तर प्रदेश चुनाव के समय सर्जिकल स्ट्राइक को याद कर रहे हैं। कांग्रेस और टीआरएस पाकिस्तान के समान लगते हैं। जब भी कोई चुनाव होता है तो वे नए प्रयोग करते हैं। चाहे वह हिजाब हो या सर्जिकल स्ट्राइक, क्योंकि वे विकास में मुकाबला करने में असमर्थ हैं।

सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाना केसीआर की मानसिकता को है दर्शाता

उन्होंने दावा किया कि लोगों का केसीआर से मोहभंग हो गया है। लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विकास और कल्याण के एजेंडे में विश्वास है। सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाना केसीआर की मानसिकता को दर्शाता है।

कांग्रेस और टीआरएस ने सर्जिकल स्ट्राइक और गलवन घाटी में हमारे सैनिकों के शौर्य पर सवाल उठाया है जबकि पाकिस्तान और दुनिया ने स्वीकार किया है कि भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक कर आतंकी कैंप को तबाह कर दिया था। कांग्रेस और टीआरएस को जवाब देना होगा कि वे भारतीय सेना के साथ हैं या पाकिस्तान के साथ। देश इन दोनों दलों को कभी माफ नहीं करेगा।

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here