25.4 C
London
Monday, June 24, 2024

पीएम मोदी के फ्री रेवड़ी वाले बयान पर दिल्ली सीएम केजरीवाल का पलटवार, कहा कौन बांट रहा है?

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

भाजपा आम आदमी पार्टी के बीच जुबानी जंग जारी है. पीएम मोदी ने शनिवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर हमला बोलते हुए कहा था कि चुनाव से पहले सरकारों द्वारा ‘फ्री की रेवड़ी’ बांटी जा रही है.

इस पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कांफ्रेंस प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि मुझ पर आरोप लगाए जा रहे हैं कि केजरीवाल फ्री रेवड़ी बांट रहा है. मुझे भद्दी-भद्दी गाली दी जा रही है. मेरा मजाक उड़ाया जा रहा है. देश के लोगों से पूछना चाहता हूं कि मैं क्या गलत कर रहा हूं. गरीब अमीर क्लास के बच्चों को शानदार एवं फ्री शिक्षा दे रहा हूं. लोग बताएं कि क्या मैं रेवड़ी बांट रहा हूं या देश की नींव रख रहा हूं? दिल्ली के सरकारी स्कूल में 18 लाख बच्चे पढ़ते हैं.

CM अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इन बच्चों का भविष्य अंधकार में था. हमारी सरकार बनने से पहले जैसे देशभर में सरकारी स्कूल का बेड़ा गर्क था, वैसे ही दिल्ली के सरकारी स्कूल की हालत थी. कोई पढ़ाई नहीं होती थी, कोई इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं था, भविष्य उनका बर्बाद था. आज इन 18 लाख बच्चों का भविष्य शानदार करके मुफ्त शिक्षा दे दी तो क्या गलत कर दिया. आजादी के बाद पहली बार सरकारी स्कूल के नतीजे 99 प्रतिशत से ज्यादा आए हैं. सरकारी स्कूलों ने प्राइवेट स्कूलों को भी पीछे छोड़ दिया. पिछले कुछ सालों में 4 लाख बच्चे प्राइवेट से नाम कटवा के सरकारी में भर्ती हुए हैं.

उन्होंने आगे कहा कि अब सरकारी स्कूल के बच्चे नीट डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहे हैं. एक लड़का है गगन, उसके पिताजी गत्ते के डिब्बे बनाने का काम करते हैं. आज गगन का आईआईटी धनबाद में इंजीनियरिंग में दाखिला हुआ है. उससे पूछ कर देखिए क्या केजरीवाल मुफ्त रेवड़ी बांट रहा है या देश का भविष्य बना रहा है. यह काम 1947 या 1950 में हो जाना चाहिए था जो आज हम कर रहे हैं. आज दिल्ली के सरकारी अस्पताल मोहल्ला क्लीनिक शानदार कर दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि पूरी दुनिया में दिल्ली एकमात्र ऐसा शहर है, जहां सभी 2 करोड़ लोगों का इलाज पूरी तरह मुफ्त है. 50 लाख रुपये का भी खर्चा आएगा तो वह भी इलाज दवा टेस्ट का खर्चा मुफ्त है. क्या ये फ्री को रेवड़ी बांट रहा हूं? आज अगर दिल्ली में किसी का एक्सीडेंट हो जाए तो हमने फरिश्ते स्कीम बनाई है, जिसमें पास के किसी भी अस्पताल में ले जाओ, घायल व्यक्ति को ठीक करने का सारा खर्चा दिल्ली सरकार देती है. इस योजना के तहत हम 13 हजार से ज्यादा लोगों की जान बचा चुके हैं, उनसे पूछिए क्या केजरीवाल मुफ्त रेवड़ी बांट रहा है.

उन्होंने कहा कि आज दिल्ली के हर परिवार को हम 200 यूनिट मुफ्त बिजली दे रहे हैं पंजाब में 300 यूनिट फ्री बिजली दे रहे हैं. मैं इनसे पूछना चाहता हूं कि तुम्हारे मंत्रियों को कितनी मुफ्त बिजली मिल रही है? उनके मंत्रियों को हजारों यूनिट मुफ्त मिलती है. आज हम दिल्ली में मुफ्त में योगा करवा रहे हैं, करीब 17,000 लोगों को योग करवा रहे हैं, ताकि कोई बीमार ही ना पड़े.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि लगभग 45,000 लोग मुफ्त तीर्थयात्रा कर चुके हैं, जिसमें अयोध्या, शिरडी, द्वारका आदि जगह गए. आज हम दिल्ली में महिलाओं को मुफ्त में बसों में यात्रा करवा रहे हैं. जो लोग आज मुझे मुफ्त देने के लिए गाली दे रहे हैं उन्होंने करोड़ खर्च करके प्लेन खरीदा है. मैं पढ़ा लिखा हूं, इंजीनियरिंग में डिग्री की है, मैंने अकाउंट्स की भी पढ़ाई की है, कानून की भी पढ़ाई की है मेरी डिग्री भी फर्जी नहीं है. आज इतनी चीजें मुफ्त करने के बाद भी दिल्ली का बजट फायदे में चल रहा है. यह मैं नहीं कह रहा यह CAG कह रहा है. बजट भी मुनाफे में है. कोई नया टैक्स नहीं बढ़ाया. भ्रष्टाचार खत्म कर दिया.

उन्होंने आगे कहा कि मैं आपको बताता हूं मुफ्त रेवड़ी बांटना क्या होता है? उस कंपनी ने कई बैंक से लोन लिया लोन खा गए. बैंक दिवालिया हो गए उस कंपनी ने एक राजनीतिक पार्टी को चंद करोड़ रुपये का चंदा दे दिया, उस कंपनी के खिलाफ सरकार ने कोई एक्शन नहीं लिया. इसको कहते हैं फ्री की रेवड़ी. जब आप अपने दोस्तों के हजारों करोड़ रुपये के लोन मुफ्त में माफ कर देते हैं, यह है मुफ्त की रेवड़ी.

सीएम अरविंद केजरीवाल ने आगे कहा कि अगर कभी भगवान ने चाहा तो हम देश के एक-एक बच्चे को मुफ्त शिक्षा देंगे. अच्छी शिक्षा देंगे शानदार शिक्षा देंगे. देश के एक-एक व्यक्ति को हम अच्छा इलाज देंगे, मुफ्त इलाज देंगे, शानदार इलाज देंगे. इससे देश की नींव रखी जाएगी. यह काम 1947 में 1950 में हो जाना चाहिए था जब तक यह काम नहीं होगा तब तक हमारी नींव मजबूत नहीं होगी, तब तक भारत दुनिया का नंबर वन देश नहीं बन सकता. भारत के अंदर क्षमता है सामर्थ्य है आगे बढ़ने का, लेकिन उसके लिए ईमानदार राजनीति की जरूरत पड़ेगी.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Ahsan Ali
Ahsan Ali
Journalist, Media Person Editor-in-Chief Of Reportlook full time journalism.

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here