11 वें राष्ट्रीय मतदाता दिवस (एनवीडी) के अवसर पर केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद सोमवार को वोटर आईडी कार्ड का इलेक्ट्रोनिक वर्जन लॉन्च करने जा रहे हैं। जिसे मोबाइल फोन या किसी पर्सनल कम्प्यूटर पर डाउनलोड किया जा सकता है। मतदाता फोटो पहचान पत्र के इस डिजिटल संस्करण को मतदाता हेल्पलाइन ऐप और वेबसाइटों https://voterportal.eci.gov.in/ और https://www.nvsp.in/ के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। इसे ई-ईपीआईसी (इलेक्ट्रॉनिक इलेक्टोरल फोटो आइडेंटिटी कार्ड) प्रोग्राम कहते हैं, जिसे मोबाइल फोन या पर्सनल कंप्यूटर पर डाउनलोड किया जा सकता है।

चुनाव आयोग के अधिकारियों ने कहा कि ई-इलेक्टर फोटो पहचान पत्र निर्वाचक फोटो पहचान पत्र का डिजिटल वर्जन है और इसे डिजिटल लॉकर जैसी सुविधाओं में सहेजा जा सकता है और प्रिंट किया जा सकता है। यह नए रजिस्ट्रेशन के लिए जारी की गई फिजीकल आईडी के अतिरिक्त है।

ई-ईपीआईसी पहल दो चरणों में शुरू की जाएगी। पहले चरण में 25 से 31 जनवरी तक, सभी नए मतदाता जिन्होंने वोटर-आईडी कार्ड के लिए आवेदन किया है और फॉर्म -6 में अपने मोबाइल नंबर पंजीकृत किए हैं, वे केवल अपने मोबाइल नंबर को प्रमाणित करके ई-ईपीआईसी डाउनलोड कर पाएंगे।

मोबाइल नंबर यूनीक होने चाहिए और पहले ईसीआई की मतदाता सूची में पंजीकृत नहीं होने चाहिए। दूसरा चरण 1 फरवरी से शुरू होगा। यह आम मतदाताओं के लिए खुला होगा। जिन सभी ने अपने मोबाइल नंबर (लिंक किए हुए हैं) दिए हैं, वे अपना ई-ईपीआईसी भी डाउनलोड कर सकते हैं। आयोग के एक बयान में रविवार को कहा गया, “केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ई-ईपीआईसी कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे और ई-ईपीआईसी और पांच नए मतदाताओं को फोटो पहचान पत्र वितरित करेंगे।”

बता दें कि ये पहल पांच राज्यों – पश्चिम बंगाल, असम, केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में विधानसभा चुनावों से पहले की जा रही है। बयान में कहा गया है कि फिजिकल कार्ड को मतदाता तक प्रिंट होकर पहुंचने में समय लगता है, और यह विचार तेजी से वितरण और आसान पहुंच प्रदान करने के लिए है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *