कानपुर
:उत्तर प्रदेश के कानपुर में कुछ लोगों की भीड़ ने जबरन ‘जय श्री राम’ का नारा लगवाते हुए एक मुस्लिम ई-रिक्शा चालक की जमकर पिटाई की। सोशल मीडिया पर वायरल हुए इस घटना के वीडियो में कुछ लोग ई-रिक्शा चालक की पिटाई करते हुए नजर आ रहे हैं। इस दौरान वे उससे ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने को कह रहे हैं। गुरुवार को इस मामले में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने तीन आरोपियों को अरेस्‍ट कर लिया है। हालांकि, मुकदमे में पुलिस ने इस मामले में शामिल किसी भी संगठन का नाम नहीं लिया है।

वायरल वीडियो में रिक्शा चालक की बच्ची हमलावरों के आगे अपने पिता को छोड़ देने की मिन्नतें करती हुई गिड़गिड़ाती नजर आ रही है। बाद में कुछ पुलिसकर्मी उस रिक्शा चालक को अपनी जीप से ले जाते नजर आ रहे हैं। फुटेज में यह भी दिखाया गया है कि पुलिस की मौजूदगी में भी हमलावर रिक्शा चालक को पीट रहे हैं।

पुलिस ने नहीं लिया किसी संगठन का नाम
कानपुर की डीएसपी (साउथ) रवीना त्यागी ने बताया कि यह घटना बुधवार को बर्रा इलाके में रामगोपाल क्रॉसिंग के पास कच्ची बस्ती में हुई है।कानपुर नगर के पुलिस कमिश्‍नर असीम अरुण ने बताया कि इस मामले में तीन आरोपियों अजय उर्फ राजेश बैंड वाला, अमन गुप्ता और राहुल कुमार को अरेस्‍ट कर लिया है। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

पता नहीं बच्‍ची कैसे इस सदमे से उबर पाएगी: ओवैसी
दूसरी ओर, एआईएमआईएम अध्‍यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इस घटना का कड़ा विरोध जताया है। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा- ‘कट्टरपंथी हिंसक अपराधियों को पता है कि उन्हें कुछ नहीं होगा। इस तरह के क्रूर अपराधों के लिए उन्हें सामाजिक बहिष्कार का सामना करने की भी संभावना नहीं है। उन्होंने पुलिस की मौजूदगी में एक मुस्लिम व्यक्ति को पीटा, लेकिन पुलिस ने किसी को गिरफ्तार नहीं किया। पता नहीं कैसे बच्ची कभी इस सदमे से उबर पाएगी।’ ओवैसी ने कहा कि कोई भी सभ्य समाज ऐसे गुंडों का महिमामंडन नहीं करेगा। यदि आपके पास विवेक है, तो आप अब मूकदर्शक नहीं बन सकते। समाज में इस हिंसक कट्टरता से लड़ो।’ 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment