IPL 2022 की नीलामी (IPL 2022 Auction) में दुनिया भर के खिलाड़ी बिके, लेकिन खेल मंत्री को खरीदने वाला कोई नहीं मिला. यहां तक कि खेल मंत्री के नाम की बोली तक नहीं मिली. हम बात कर रहे हैं भारतीय क्रिकेटर मनोज तिवारी (Manoj Tiwary) की, जो कि पश्चिम बंगाल के खेल मंत्री भी हैं. IPL 2022 के मेगा ऑक्शन (IPL 2022 Mega Auction) में मनोज तिवारी ने अपनी बेस प्राइस 50 लाख रुपये रखी थी. लेकिन इसके बावजूद भी उन्हें खरीदने वाला कोई नहीं मिला.

मनोज तिवारी को इससे पहले भी  IPL खेलने का अनुभव है. वो इससे पहले दिल्ली डेयरडेविल्स, कोलकाता नाइट राइडर्स, राइजिंग पुणे सुपर जायंट्स और पंजाब किंग्स जैसी टीमों से खेल चुके हैं. मनोज तिवारी ने साल 2008 में टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया था. उन्होंने अपना आखिरी वनडे जुलाई 2015 में खेला था.  12 वनडे में कुल 287 रन बनाने वाले मनोज तिवारी ने भारत के लिए 3 टी-20 मैच भी खेले हैं. उनका अंतरराष्ट्रीय करियर भले ही लंबा न रहा हो, लेकिन 2006-07 में रणजी ट्राफी में उनके प्रदर्शन को कोई नहीं भूल सकता। इस सीजन में उन्होंने 99.50 की औसत से 796 रन बनाए थे.

वेस्ट बंगाल के खेल मंत्री और क्रिकेटर मनोज तिवारी

मनोज तिवारी को नहीं मिला खरीदार

IPL 2022 के मेगा ऑक्शन में खरीदार नहीं मिलने के बाद अब इतना तय है कि मनोज तिवारी 15वें सीजन में खेलते नहीं दिखेंगे. 4 टीमों से IPL खेलने वाले इस भारतीय क्रिकेटर पर इस बार किसी फ्रेंचाइजी ने नहीं खरीदा. वैसे खरीदार तो तब मिलता जब उनके नाम की बोली लगती. 50 लाख रुपये बेस प्राइस होने के बावजूद ऑक्शन हॉल में मनोज तिवारी का नाम नहीं गूंजा. मतलब साफ है कि राजनीतिक करियर शुरू होते ही उनका IPL करियर लगभग ओवर हो चुका दिखता है.

राजनीति की पिच पर किया शानदार डेब्यू

मनोज तिवारी का राजनीति की पिच पर भी डेब्यू शानदार रहा है. उन्होंने तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर पश्चिम बंगाल के हावड़ा के शिबपुर सीट से चुनाव लड़ा था और 32339 मतों से जीत हासिल की थी. चुनाव जीतने के बाद उन्होंने कहा था, ‘मैं अपनी फिटनेस बरकरार रखूंगा. बंगाल के लिए कुछ और समय खेलने से मैं इनकार नहीं करता.’ बंगाल क्रिकेट में उनका सफर जारी है, लेकिन आईपीएल में उन्हें खेलते देखने पर अब  संशय के बाद मंडरा रहे हैं.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment