Nagaur News: Viral Audio से राजस्थान पुलिस महकमे में आया भुचाल, कई सस्पेंड, अभी और गिरेगी गाज

मनोरंजनNagaur News: Viral Audio से राजस्थान पुलिस महकमे में आया भुचाल, कई सस्पेंड, अभी और गिरेगी गाज

Nagaur News: एक ऑडियो (Viral Audio ) जिसने नागौर जिले ही नहीं पुरे राजस्थान के पुलिस (Rajasthan Police) महकमे में हड़कंप मचा हुआ है. लगातार नागौर जिले के एक के बाद एक पुलिस कर्मियों के सस्पेंड (Rajasthan Police Suspend) होने के आदेश निकल रहे हैं.

मामला नागौर सदर पुलिस (Sadar Police) पर फायरिंग कर भागे तस्कर की हुई गिरफ्तारी के बाद सामने आये ऑडियो के चलते सदर थाना SHO अंजू कुमारी और पूर्व सदर थाना SHO नंदकिशोर वर्मा को CM अशोक गहलोत के निर्देशों (CM Ashok Gehlot Instructions) पर PHQ से ऑर्डर जारी (Police Headquarter) कर दोनों को सस्पेंड कर दिया गया था. वहीं इंटेलिजेंस अधिकारी (Intelligence Officer) भंवरलाल को पहले ही सस्पेंड कर दिया गया था.

इंटेलिजेंस अधिकारी और तस्करों के बीच संबंध 
अब नागौर पुलिस का तस्करों से गठजोड़ (Nexus of Nagaur Police with Smugglers) सामने आने के PHQ के ऑर्डर पर चल रही. विजिलेंस जांच में सदर थाने के कॉन्स्टेबल राजूराम के भी सस्पेंडेड इंटेलिजेंस अधिकारी भंवरलाल और तस्करों से संबंध होने की बात सामने आई है. उसके बाद नागौर एसपी अभिजीत सिंह ने कॉन्स्टेबल राजूराम गालवा को सस्पेंड करने के आदेश दिए है.

एएसपी सतीश यादव घटना की जांच कर रहे
सदर थाने के कॉन्स्टेबल राजूराम (Constable Rajuram) की इस मामले में संदिग्ध भूमिका सामने आई है, इसके चलते नागौर एसपी (Nagaur SP) ने उसे निलंबित कर दिया गया. PHQ के आदेशों पर विजिलेंस के ASP सतीश यादव (Vigilance ASP Satish Yadav) नागौर में पिछले चार दिनों से तस्कर गणेश बेनीवाल की गिरफ्तारी और फायरिंग की घटना से जुड़े मामले में जांच कर रहे हैं.

लंबे समय से अवैध मादक पदार्थों और अवैध हथियारों का लेन देन
आपको बता दें कि तस्कर गणेश बेनीवाल (Smuggler Ganesh Beniwal) लंबे समय से अवैध मादक पदार्थों और अवैध हथियारों का लेन देन कर रहा था. पुलिस और तस्कर गणेश के बीच हुई फायरिंग के कुछ दिन पहले ही पुलिस ने नागौर के अठियासन गांव से गोपाल विश्नोई और उसके एक साथी को अवैध मादक पदार्थ और अवैध हथियार के साथ गिरफ्तार किया था .

पुलिस और तस्करों के बीच फायरिंग का मामला 
13 अगस्त को पुलिस और स्कॉर्पियो गाड़ी में आए तस्करों के बीच नागौर और बीकानेर जिले की सीमा में फायरिंग का मामला सामने आया था. नागौर जिले के अलाय फाटक के पास पीछा कर रही पुलिस टीम ने तस्करों को रोका तो तस्करों ने पुलिस पर एक फायर किया. इसके बाद तस्कर बीकानेर की सीमा में घुस गए. पीछा कर रही पुलिस और तस्करों के पीछे बीकानेर जिले के पांचू थाना क्षेत्र के हियादसर और मुकाम में आमने सामने फायरिंग हुई. इसके बाद तस्कर गाड़ी भगाकर फरार हो गए थे.
सदर एसएचओ अंजू कुमारी (SHO Anju Kumari) ने फायरिंग के मामले में श्री बालाजी थाने में तस्करों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई. फायरिंग के मामले की 12 दिन बाद सदर एसएचओ अंजू कुमारी ने बताया कि पुलिस टीम पर फायरिंग करने वाले तस्कर सिंगड़ गांव के गणेश बेनीवाल को पुलिस ने दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया है. इसी दौरान उसके साथ गाड़ी में थाने का आसूचना अधिकारी भंवरलाल भी मौजूद था. जिसे अगले दिन तस्कर के साथ मिलीभगत की भूमिका को लेकर नागौर एसपी अभिजीत सिंह ने निलंबित कर दिया और जांच कराने की बात कही.

ऑडियो से पुरे राजस्थान पुलिस महकमे में हड़कंप
वहीं आसूचना अधिकारी भंवरलाल के निलंबित होने की दूसरे दिन ही सदर थाना एसएचओ अंजू कुमारी और आसूचना अधिकारी भंवरलाल का एक के ऑडियो (Audio Viral) सामने आया. जिसके बाद पुरे राजस्थान पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. ऑडियो मे भंवर लाल तस्कर गणेश को लेकर सदर थाना पहुंचने की बात हो रही थी. इसी को लेकर सदर थाना एसएचओ अंजू कुमारी ने नागौर एसपी (Nagaur SP Abhijit Singh) अभिजीत सिंह का हवाला देते हुए कहा कि “उसे थाने नहीं लाना है एसपी साहब ने कहा उसे उड़ाना है.”

एसएसओ अंजू कुमारी और झालावाड़ के एसएचओ सस्पेंड कर दिया
ऑडियो सामने आने के बाद ज़ी मीडिया ने खबर को प्रमुखता से चलाया, जिस पर सीएम के निर्देशों पर जयपुर पुलिस हेड क्वार्टर से नागौर सदर एसएसओ अंजू कुमारी और झालावाड़ के अकलेरा में एसएचओ नंदकिशोर वर्मा को सस्पेंड कर दिया गया. इसके बाद जयपुर से विजिलेंस की टीम में पूरे मामले की जांच को लेकर नागौर पहुंची. वहीं इस मामले में एक और पुलिस कांस्टेबल राजूराम का भी तस्कर गणेश और उसके साथ के साथ मिलीभगत की भूमिका सामने आई. जिस पर नागौर पुलिस अधीक्षक अभिजीत सिंह ने कांस्टेबल राजूराम को भी निलंबित कर दिया.

अभी कई और पुलिस अधिकारियों पर गिरेगी गाज
इस मामले में जुड़े हुए सभी पुलिसकर्मियों से जयपुर से आई विजलेंस की टीम पूछताछ कर रही है. लगातार नागौर पुलिस और तस्करों के बीच मिलीभगत की भूमिका सामने आ रही है. वहीं जयपुर से आई विजलेंस की टीम द्वारा की जा रही पूछताछ में और भी नाम सामने आ सकते हैं अभी पूछताछ जारी है.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles