[email protected]

सिखों के ऑफर के बाद भी मुस्लिम समाज का गुरुद्वारे में नमाज पढ़ने से इंकार

- Advertisement -
- Advertisement -

गुरुग्राम. हरियाणा के गुरुग्राम (Gurugram) जिले में खुले में नमान पढ़ने को लेकर हुए विवाद के बाद गुरुद्वारा में मुस्लिम समाज को नमाज अदा करने के लिए निमंत्रण दिया गया था. हालांकि, मुस्लिम समाज (Muslim Community) ने गुरुदारे में नमाज पढ़ने से इंकार किया है, क्योंकि सिख समाज की ओर से मौजूदा समय में गुरु पर्व मनाया जा रहा है. मुस्लिम समाज का कहना है कि क्योंकि इस समय गुरु पर्व चल रहा है. ऐसे में किसी भी तरह के विवाद से बचने के लिए वह गुरुदारे में नमाज नहीं पढ़ेंगे.

गुरुदारा कमेटी के मेंबर दया सिंह ने बताया कि कमेटी ने मुस्लिम समाज को स्पेस ऑफर किया था. लेकिन गुरुपर्व के चलते उन्होंने नमाज पढ़ने से इंकार कर दिया था. अब इस संबंध में अगले हफ्ते फैसला लिया जाएगा. श्री गुरुद्वारा सिंह सभा के प्रधान शेरगिल सिद्धू  2 दिन पहले ‘आओ गुरुद्वारों में पढ़ो नमाज‘ जैसे ब्यान दे कट्टरपंथियों के निशाने पर आ गए थे, जिसके बाद सेक्टर-12 के अक्षय यादव की दुकानों में तो नमाज पढ़ी गयी, लेकिन गुरुद्वारों में गुरुपर्व को भीड़ को देखते हुए नमाज नहीं पढ़ी जा सकी.

दरअसल, गुरुग्राम प्रशासन ने हिंदू और मुस्लिम संगठनों को बैठाकर नमाज़ पढ़ने के लिए 37 जगह तय की थीं, जिसे बाद में हिंदू संगठनों के दबाव में घटाकर 20 कर दिया गया है. बाद में इस मुद्दे पर विवाद हो गया था. लगातार अब मामले में तनाव बना हुआ है. गुरुग्राम में तनाव की स्थिति को देखते हुए पिछले शुक्रवार को शहर में खुले में नमाज अदा करने वालों की संख्या भी कम हुई है.

शुक्रवार को भी हुआ विरोध

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सेक्टर-37 में शुक्रवार को एक बार फिर नमाज का विरोध देखने को मिला. नमाज पढ़ने वाली साइट पर कुछ युवक इकट्ठे होकर क्रिकेट खेल रहे थे और नमाज पढ़ने लोग आए तो इन युवकों ने हटने से इंकार कर दिया. सूचना मिलते ही पुलिस बल मौके पर पहुंचा और इन युवकों को यहां से समझाकर भेज दिया, जिसके बाद यहां नमाज अदा की गई.दरअसल सेक्टर-37 इंडस्ट्रियल एरिया के पास खांडसा गांव की जमीन पर ट्रॉला पार्किंग है. शुक्रवार को यहां ट्रॉले साइड में कर दिए जाते हैं ताकि लोग नमाज कर सकें. पिछले दिनों हुए विवाद को सुलझाते हुए जिला प्रशासन की ओर से तय की गई 20 साइट में इस साइट को भी शामिल किया गया है.

फेसबुक पर ताजा ख़बरें पाने के लिए लाइक करे

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -
×