Mumbai : राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने गुरुवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के जोनल प्रमुख समीर वानखेड़े पर ‘जबरन वसूली’ का आरोप लगाते हुए कहा है कि कोरोना लॉकडाउन में जब पूरा देश अपने घरों में बंद था तब समीर वानखड़े का परिवार मालदीव्स (Maldives) में छुट्टियां मना रहा था। मंत्री नवाब मालिक द्वारा लगाए गए आरोपों का एनसीबी जोनल प्रमुख समीर वानखड़े ने जवाब देते हुए कहा है कि नवाब मलिक के सभी आरोप निराधार हैं । नवाब मलिक बिना किसी सबूतों के आधार पर उन पर गलत आरोप लगा रहे हैं।

नवाब मलिक ने बयान दिया साथ ही समीर ने कहा कि वह इन झूठे इल्ज़ामों के खिलाफ न्यायपालिका की मदद लेंगे । अपने ऊपर लगाए गए झूठे आरोपों की भरपाई करवाएंगे। इन आरोप प्रत्यरोपों के बीच नवाब मलिक ने बयान दिया है कि जल्द ही समीर वानखड़े की नौकरी उनके गलत आचरण के चलते साल भर के भीतर ही चली जाएगी।

आपको बता दें कि समीर वानखड़े मुम्बई ड्रग केस में क्रूज पर छापा मारने वाली एनसीबी की टीम के प्रमुख थे। वह पश्चिमी मुम्बई एनसीबी के जोनल प्रमुख हैं। इसी छापेमारी के दौरान ही अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी हुई थी। समीर वानखड़े की अगुवाई में एनसीबी समीर वानखड़े अपने रौबदार रवैये और गैरकानूनी ड्रग्स के खिलाफ कार्यवाही करने के चलते सुर्खियों में बने रहते हैं। समीर वानखड़े की अगुवाई में एनसीबी ने आर्यन खान के खिलाफ केस बनाया था, जिसके मद्देनज़र कई कोशिशों के बाद भी आर्यन खान को जमानत नहीं मिल सकी है। नवाब मलिक के तमाम आरोपों के जवाब में समीर वानखड़े सहजता से जवाब देते हुए कह रहे हैं कि वह किसी भी निराधार आरोपों से नहीं डरते हैं तथा अगर देश से गैरकानूनी ड्रग्स खत्म करने के लिए अगर उन्हें जेल भी जाना पड़ा तो वह इसके लिए भी मंज़ूर हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment