मुंबई. शिवसेना के नेता संजय राउत ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर मुंबई को केंद्र शासित प्रदेश बनाने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को दावा किया कि गृह मंत्रालय को इस आशय संबंधी एक प्रस्तुति दी गई है. उन्होंने कहा कि उनके पास इसे साबित करने के लिए सबूत हैं. राउत ने आरोप लगाया कि भाजपा के पूर्व सांसद किरीट सोमैया और पार्टी नेताओं, बिल्डरों, व्यापारियों का एक समूह इस साजिश का हिस्सा था.

राउत ने कहा, “मुंबई को केंद्र शासित प्रदेश बनाने के बारे में एक प्रस्तुति (इस समूह द्वारा) केंद्रीय गृह मंत्रालय को दी गई है. बैठकें हुई हैं और इस उद्देश्य के लिए धन एकत्र किया जा रहा है. यह पिछले दो महीनों से चल रहा है और मैं यह पूरी जिम्मेदारी से कह रहा हूं. मैं जो कह रहा हूं उसे साबित करने के लिए मेरे पास सबूत हैं. मुख्यमंत्री (उद्धव ठाकरे) भी इस घटनाक्रम से वाकिफ हैं.”

‘मुंबई में मराठी लोगों का प्रतिशत बहुत कम हो गया है’

शिवसेना सांसद ने दावा किया कि अगले कुछ महीनों में सोमैया के नेतृत्व वाले समूह के यह कहते हुए अदालत जाने की संभावना है कि महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में मराठी लोगों का प्रतिशत बहुत कम हो गया है और इसलिए शहर को केंद्र सरकार के शासन के तहत एक केंद्र शासित प्रदेश बनाया जाना चाहिए.

राउत ने कहा कि सोमैया ने पहले स्कूलों में मराठी को अनिवार्य भाषा बनाने के राज्य सरकार के फैसले को चुनौती दी थी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment