केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह गुरुवार को बंगाल के दौरे पर हैं. यहां पर उन्होंने टीएमसी पर जमकर निशाना साधा. वहीं, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनमें हिम्मत है तो वे उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी के खिलाफ चुनाव लड़कर दिखाएं. बता दें कि गुरुवार को अमित शाह और ममता बनर्जी एक ही जिले में अलग-अलग जगहों पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे. अमित शाह जिस वक्त दक्षिण 24 परगना जिले के काकद्वीप में थे, उस वक्त पैलान इलाके में अभिषेक के साथ सभा को संबोधित करते हुए ममता ने कहा-केंद्र के एक मंत्री गंगासागर जाकर बुआ-भतीजे की बात कर रहे हैं. आज मैं कहती हूं कि पहले भतीजे से लड़ो, फिर दीदी से लड़ना. 

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बंगाल के श्रम राज्यमंत्री जाकिर हुसैन पर हुए हमले की निंदा करते हुए कहा कि साजिश के तहत जाकिर हुसैन पर हमला किया गया. उन्होंने कहा कि जाकिर हुसैन पर हमला करने की साजिश में विरोधी दल का हाथ है. बता दें कि जनसभा से पहले ममता अपने मंत्री को देखने कोलकाता के एसएसकेएम अस्पताल गई थीं. ममता बनर्जी ने कहा- विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस को डराने की कोशिश हो रही है. जाकिर हुसैन पर हमला किया गया. जाकिर आज जिंदगी और मौत के बीच अस्पताल में बेड पर पड़े हुए हैं. उनकी हालत गंभीर है. 

बता दें कि महिला मतदाताओं को रिझाने के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गुरुवार को कहा कि भाजपा अगर पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद सत्ता में आई तो महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा. अमित शाह पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के नमखाना में एक सभा को संबोधित कर रहे थे. परिवर्तन यात्रा के पांचवें चरण की शुरुआत करते हुए अमित शाह ने कहा, “अगर हमारी पार्टी सत्ता में आई तो हम महिलाओं को सरकारी नौकरियों में 33 फीसदी आरक्षण देंगे. शाह यहीं नहीं रुके, उन्होंने आगे वादा किया कि अगर भाजपा सत्ता में आई तो राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाएगा.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *