4.6 C
London
Tuesday, February 27, 2024

महाराष्ट्र: आवारा कुत्तों को रोटी देने पर मुंबई की दो महिलाओं पर 14 लाख का जुर्माना

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नवी मुंबई के एक हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में रहने वाली एक महिला ने आरोप लगाया है कि उसकी आवासीय सोसायटी की प्रबंधन समिति ने परिसर के अंदर आवारा कुत्तों को खाना खिलाने पर उस पर आठ लाख रुपये से अधिक का जुर्माना लगाया है. 40 से अधिक फ्लैटों वाले एनआरआई कॉम्प्लेक्स की प्रबंधन समिति ने जुर्माना लगाया है. मीडिया से बात करते हुए अंशु सिंह ने कहा कि हाउसिंग सोसाइटी परिसर के अंदर आवारा कुत्तों को खाना खिलाते पाए जाने वालों पर प्रतिदिन  5,000 रुपये के हिसाब से जुर्माना लगाती है. “यह कूड़े के शुल्क के रूप में लगाया जाता है. मेरी अब तक की जुर्माना राशि 8 लाख रुपये से अधिक है.”

सोसायटी की प्रबंध समिति ने परिसर के अंदर कुत्तों को खाना खिलाते पाए जाने वालों पर जुर्माना लगाने का निर्णय लिया. यह नियम जुलाई 2021 में शुरू हुई, उसने कहा, कई आवारा कुत्ते परिसर के अंदर घूमते पाए जाते हैं. उन्होंने बताया  कि एक अन्य निवासी पर  जुर्माना 6  लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में रहने वाली एक महिला लीला वर्मा ने कहा कि सोसायटी के पहरेदार उन सदस्यों पर नजर रखते हैं जो कुत्तों को खिला रहे हैं और उनके नाम नोट कर लेते हैं. इसके बाद इसकी सूचना प्रबंध समिति को दी जाती है, जो बदले में जुर्माने की गणना करती है.

हालांकि, हाउसिंग कॉम्प्लेक्स की सचिव विनीता श्रीनंदन ने मीडिया को बताया कि बच्चों के ट्यूशन जाते समय आवारा कुत्तों के पीछे भागते हैं और वरिष्ठ नागरिक कुत्तों के डर से अबाध रूप से कहीं आ जा नहीं  सकते हैं.

“फिर सफाई और स्वच्छता से संबंधित मुद्दे हैं क्योंकि ये कुत्ते पार्किंग की जगह और अन्य क्षेत्रों में गंदगी करते हैं और उपद्रव पैदा करते हैं. निवासियों को रात में ठीक से नींद नहीं आती है क्योंकि कुत्ते पूरे समय भौंकते रहते हैं.”

महिला ने कहा कि हाउसिंग सोसाइटी ने कुत्तों के लिए एक बाड़ा बनाया है, लेकिन कुछ सदस्य अभी भी इन जानवरों को खुले में खिलाते हैं.  

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here