नई दिल्ली: इन दिनों विवेक अग्निहोत्री की फिल्म द कश्मीर फाइल्स काफी चर्चा में है. इसे लेकर साध्वी ऋतंभरा ने बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि जिस तरह से द कश्मीर फाइल्स फिल्म में कश्मीर की स्थिति को बताया है, वैसे ही राम मंदिर के 500 वर्ष के संघर्ष पर भी फिल्म बननी चाहिए. जिससे लोगों को पता चले कि हमारे पुरखों ने हजारों वर्षों तक राम मंदिर के लिए मुहिम चलाई.

‘राम मंदिर संघर्ष पर बने फिल्म’

हिंदू नववर्ष पर उदयपुर में आयोजित होने वाली शोभायात्रा और सभा को संबोधित करने के लिए साध्वी ऋतंभरा शनिवार को उदयपुर पहुंची. इस दौरान मीडिया से मुखातिब होते हुए साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि राम के मंदिर के लिए संघर्ष कोई कम नहीं था. इस पर भी फिल्म बनेगी तो लोगों को पता चलेगा कि मंदिर के लिए कैसे संघर्ष किया गया.

500 साल तक चले आंदोलन का हुआ सुखद अंत

उन्होंने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि राम मंदिर का निर्माण होता देख रहे हैं. 500 साल तक चले आंदोलन का सुखद अंत हुआ. साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि द कश्मीर फाइल्स की तरह राम मंदिर आंदोलन पर भी एक फिल्म बननी चाहिए, जिससे लोगों को इस आंदोलन की भी सच्चाई पता चल पाए. उन्होंने कहा कि देश सही दिशा में आगे बढ़ रहा है. राज्य अपना काम कर रहा है.

‘कश्मीर पंडितों के जख्म 32 साल बाद भी नहीं भरे’

द कश्मीर फाइल्स फिल्म पर बोलते हुए साध्वी ऋतंभरा ने कहा कि इस फिल्म में जो दिखाया गया है वो तो बहुत कम है. उन्होंने कहा कि कश्मीरी पंडितों के जख्म 32 साल बाद भी नहीं भरे हैं. इस दौरान कश्मीर में हिंदुओं पर हुए अत्याचार को भुलाया नहीं जा सकता है और ये पाकिस्तान से आए लोगों ने कहां किया था? यह सब अत्याचार यहीं के लोगों ने किए. माताओं-बहनों के साथ अमानवीय व्यवहार किया गया. ऐसे में जो इसका विरोध कर रहे हैं उन्हें सोचना चाहिए की झूठ के पांव नहीं होते.

रूस-यूक्रेन विवाद पर कही बड़ी बात

इसके साथ उन्होंने यूक्रेन और रूस विवाद पर कहा कि इसमें सीधा और साफ समझ में आ रहा है कि यूरोप और अमेरिका ने यूक्रेन को युद्ध में धकेल दिया. अब दोनों तमाशा देख रहे हैं. साध्वी ने कहा कि अमेरिका की इस तरह की फितरत रही है कि दूसरे की धरती को युद्ध का क्षेत्र बना दो.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment