विधानसभा चुनाव के नजदीक आते ही पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा भी काफी तेज हो गयी है। पश्चिम बंगाल के उत्तर परगना जिले के मिनाखा इलाके में अज्ञात लोगों ने भारतीय जनता पार्टी के द्वारा निकाली जा रही परिवर्तन यात्रा पर हमला कर दिया। इस हमले के बाद भाजपा के एक कार्यकर्ता का अभी तक कुछ पता नहीं चल पाया है। वहीँ दो कार्यकर्ता बुरी तरह से घायल हो गए हैं। साथ ही हमले के बाद उसी इलाके में मौजूद टीएमसी कार्यालय पर भी कुछ लोगों ने हमला कर दिया।


कल शनिवार को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष द्वारा उत्तर परगना जिले में परिवर्तन यात्रा निकाली जा रही थी। परिवर्तन यात्रा जैसे ही मिनाखा इलाके से गुजरी तो अज्ञात लोगों ने यात्रा के ऊपर बम और पत्थरों से हमला कर दिया। जिसके कारण वहां भगदड़ और तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गयी। यात्रा पर हमले के बाद उसी इलाके में मौजूद टीएमसी कार्यालय में भी कुछ लोगों ने तोड़फोड़ की। बाद में पुलिस ने मौके पर पहुँचकर स्थिति को नियंत्रण में किया। हालाँकि यात्रा पर हमले का आरोप भाजपा ने तृणमूल कांग्रेस पर लगाया। जबकि टीएमसी ऑफिस पर हमले के लिए स्थानीय कार्यकर्ताओं ने भाजपा को दोषी ठहराया।

यात्रा पर हुए हमले को लेकर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि उत्तर 24 परगना जिले के मिनाखा में हमारी परिवर्तन यात्रा पर टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने बम से हमला किया।  इस तरह के हमले के लोगों के मन में आतंक पैदा करने की साजिश की जा रही है। लेकिन बंगाल के लोग सही समय पर इसका जवाब देंगे।

वहीँ तृणमूल के जिलाध्यक्ष ज्योतिप्रिय मलिक ने कहा कि भाजपा ने खुद ही इस हमले को अंजाम दिया है और उसने खुद ही अपने लोगों पर बम फेंके हैं। साथ ही टीएमसी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि भाजपा के लोगों ने यात्रा के दौरान पास से गुजर रही एक दूध की गाड़ी पर भी हमला कर दिया। 

आपको बता दूँ कि कुछ दिन पहले भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा के काफिले पर भी हमला किया गया था। जिसके बाद बीजेपी ने इसके लिए गृहमंत्री अमित शाह को चिट्ठी भी लिखी थी।  

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *