इंदौर: मध्य-प्रदेश के खरगोन में रामनवमी के उपलक्ष में हुई हिंसा मामले में एक व्यक्ति की मौत हुई है। मृतक का नाम इब्रिस उर्फ सद्दाम है. इब्रिस हिंसा के बाद से लापता था, उसका शव इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल में मिला है.

इब्रिस उर्फ सद्दाम की उम्र 28 साल बताई जा रही है. हिंसा के दिन वह अपने घर से आनंद नगर मस्जिद में नमाज और रोजेदारों के लिए इफ्तार देने निकला था, जो वापस घर नही लौटा। इब्रिस के परिवार वाले 4 दिन तक उसकी तलाश करते रहे लेकिन उन्हें इब्रिस नहीं मिला।

इसके बाद जब परिजनों की हिम्मत टूट गई तो उन्होंने 14 तारीख को थाने में एफ आई आर दर्ज करवाई। इब्रिस उर्फ सद्दाम के परिजन उसे लगातार थाने, जेल में ढूंढ रहे थे , लेकिन उन्हें उसका कोई सुराख नही मिला। परिवार वाले इधर उधर भटककर इतने हताश हो गए कि उन्होंने उम्मीद ही छोड़ दी और सीधा खरगोन पोस्टमार्टम रूम में जाकर पूछताछ कर उसे ढूंढने लगे, लेकिन यहां भी सद्दाम के बारे में कोई जानकारी नहीं मिली.

परिवारवालों ने पोस्टमॉर्टम रूम के प्रबंधक से पूछा कि सद्दाम जिंदा है या मर गया ये तो बता दो. लेकिन प्रबंधक ने उन्हें कोई जवाब नही दिया। मृतक की मां ने बताया कि उसकी बीवी और 2 महीने की छोटी बच्ची है. हम बहुत परेशान हैं. 17 अप्रैल को पुलिस की सुचना पर परिजन इंदौर के एमवाय हॉस्पिटल पहुंचे, जहां उसकी लाश मिली.

परिवार वालो ने लगाए हिंदुत्वादी और पुलिस पर गंभीर आरोप

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment