नई दिल्ली। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि राजधानी में फ्री बिजली वैकल्पिक होगी।मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली सरकार की कैबिनेट ने बड़ा फ़ैसला लिया है। दिल्ली में बहुत लोगों को फ्री में बिजली मिलती है। इसके लिए दिल्ली सरकार सब्सिडी देती है। कई लोगों ने कहा कि हम लोग सक्षम हैं, हमें फ्री बिजली नहीं चाहिए। इसका इस्तेमाल आप विकास के लिए करें।

सीएम ने कहा कि हम लोगों से पूछेंगे कि क्या उन्हें बिजली की सब्सिडी चाहिए? अगर वे कहेंगे की चाहिए तो हम देंगे और वे कहेंगे कि नहीं चाहिए तो हम नहीं देंगे। एक अक्टूबर से दिल्ली में उन्हीं लोगों को बिजली की सब्सिडी दी जाएगी जो लोग बिजली की सब्सिडी मांगेगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को कहा कि एक अक्टूबर से दिल्ली सरकार इस योजना का विकल्प चुनने वाले उपभोक्ताओं को बिजली पर सब्सिडी देगी। उन्होंने कहा कि “दिल्ली सरकार अब लोगों से पूछेगी कि क्या वे बिजली पर सब्सिडी का लाभ उठाना चाहते हैं।बता दें कि दिल्ली के उपभोक्ताओं को वर्तमान में केजरीवाल सरकार 200 यूनिट तक बिजली का फ्री देती है। इसके अलावा 201 से 400 यूनिट बिजली की खपत पर 800 रुपये की सब्सिडी मिलती है।

स्टार्टअप पॉलिसी को मिली मंजूरी

इसके अलावा केजरीवाल कैबिनेट ने दिल्ली स्टार्टअप पॉलिसी को मंजूरी दी है। सीएम केजरीवाल ने कहा कि जो युवा अपना कारोबार शुरू करना चाहते हैं, दिल्ली सरकार उनकी मदद करेगी। पैसे की मदद के साथ-साथ अन्य तरह की भी मदद दिल्ली सरकार करेगी। दिल्ली सरकार ढेर सारी वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली सरकार के किसी भी कॉलेज में पढ़ने वाला छात्र अगर स्टार्टअप करना चाहता है और पढ़ते-पढ़ते उसने कोई प्रोडक्ट बनाया तो दिल्ली सरकार उसे पढ़ाई के लिए 2 साल तक की छुट्टी देने के लिए भी तैयार है, ताकि वह छात्र अपना पूरा समय अपने प्रोडक्ट पर लगा सकें।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment