A closed shop is pictured during curfew in Srinagar on August 7, 2019. - A protester died after being chased by police during a curfew in Kashmir's main city, left in turmoil by an Indian government move to tighten control over the restive region, a police official said on August 7. (Photo by Sajjad HUSSAIN / AFP) (Photo credit should read SAJJAD HUSSAIN/AFP via Getty Images)

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में पिछले हफ्ते कथित तौर पर आतंकवादी हमले का फर्जीवाड़ा करने के आरोप में भाजपा के दो कार्यकर्ताओं और उनके दो निजी सुरक्षा गार्डों को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता इशफाक मीर और बशारत अहमद और गार्डों को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

अधिकारियों ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने गार्डों के साथ मिलकर शुक्रवार रात कुपवाड़ा के गुलगाम में अपनी सुरक्षा बढ़ाने के लिए फर्जी हमला किया। जिसमे भाजपा जिलाध्यक्ष मोहम्मद शफी मीर के बेटे मीर के हाथ में चोट आई है।

पुलिस ने प्रारंभिक जांच के बाद कहा था कि मीर एक सुरक्षा गार्ड की आकस्मिक गोलीबारी में घायल हो गया था। हालांकि, लगातार पूछताछ के बाद, आरोपियों ने कबूल किया कि उन्होंने अधिक सुरक्षा पाने के लिए हमला किया था,

इन सभी को सोमवार को कुपवाड़ा की एक स्थानीय अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें सात दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया. इस बीच, भाजपा ने जिलाध्यक्ष को निलंबित कर दिया है और आंतरिक जांच के आदेश दिए हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment