कर्नाटक: स्कूल-कॉलेज में हिजाब के बाद अब मंदिरों में ‘मुस्लिम’ कारोबारियों के व्यापार करने पर लगाया प्रतिबंध

व्यापारकर्नाटक: स्कूल-कॉलेज में हिजाब के बाद अब मंदिरों में 'मुस्लिम' कारोबारियों के व्यापार करने पर लगाया प्रतिबंध

उडुपी (कर्नाटक), 23 मार्च (भाषा) कर्नाटक के उडुपी जिले के कापू शहर में मारी गुड़ी मंदिर प्रबंधन ने वार्षिक उत्सव के दौरान अन्य धर्म के लोगों को मंदिर की जमीन पर कारोबार नहीं करने देने का फैसला किया है। कुछ हिंदू संगठनों के अनुरोध के बाद यह फैसला लिया गया है।

हिंदू जागरण वेदिका और तुलुनाडु हिंदू सेना जैसे संगठनों ने मंदिर प्रबंधन से मंगलवार और बुधवार को दो दिवसीय धार्मिक मेले के दौरान मुस्लिम व्यापारियों को कारोबार करने की अनुमति नहीं देने की अपील की थी। जिसके बाद मंदिर प्रबंधन ने यह कदम उठाया है।

इन संगठनों ने कहा कि मुसलमानों ने हिजाब मुद्दे पर कर्नाटक उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ बंद का समर्थन किया था, जो भारत के कानून और न्यायिक प्रणाली के प्रति उनके दृष्टिकोण को दर्शाता है।

मंदिर प्रबंधन के एक कार्यकारी अधिकारी ने कापू में संवाददाताओं से कहा, ‘‘हिंदू संगठनों ने एक ज्ञापन सौंपकर हमें मारी गुड़ी त्योहार के दौरान अन्य धर्म के लोगों की बजाए केवल हिंदू व्यापारियों को कारोबार करने की अनुमति देने के लिए कहा। तदनुसार, मंदिर प्रबंधन ने ऐसे किसी भी व्यक्ति को किराए पर जमीन नहीं देने का फैसला किया है, जो हिंदू नहीं है। केवल हिंदुओं को व्यापार करने के लिए जगह दी जाएगी।’’

मंदिर प्रबंधन को सौंपे गए एक ज्ञापन में कापू स्थित तुलुनाडु हिंदू सेना ने अपील की कि ‘सुग्गी मारी पूजा’ उत्सव के दौरान किसी भी मुस्लिम को व्यापार करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

हिंदू सेना ने कहा, ‘‘मारी पूजा उत्सव के दौरान किसी भी मुस्लिम को स्टाल लगाने के लिए जगह नहीं दी जानी चाहिए। अगर मुसलमानों को अपने स्टॉल लगाने की अनुमति दी जाती है, तो आप (मंदिर अधिकारी) अकेले समस्या और खतरे के लिए जिम्मेदार होंगे। इसलिए, आपको मुसलमानों को स्टाल लगाने के लिए जगह नहीं देना चाहिए । “

हिंदू जागरण वेदिका के प्रकाश के ने कहा कि कापू शहर में मारी पूजा उडुपी जिले में एक बहुत बड़ा त्योहार है जिसमें बड़ी संख्या में मुस्लिम व्यापारी यहां व्यापार करते हैं।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘जो लोग हमारे भगवान, हमारे धार्मिक स्थलों का सम्मान नहीं करते हैं और एक अलग धर्म का पालन करते हैं, उन्हें हमारे धार्मिक त्योहारों के दौरान व्यापार नहीं करना चाहिए। हिंदू समुदाय ने मारी गुड़ी मंदिर प्रबंधन से यह अपील की थी।’’

अपील के पीछे का कारण बताते हुए, उन्होंने कहा कि हाल ही में मुस्लिम व्यापारियों ने कर्नाटक उच्च न्यायालय द्वारा हिजाब के फैसले के खिलाफ राज्य भर में बंद का आयोजन किया था।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles