12.6 C
London
Thursday, May 30, 2024

करौली बाबा का अजीबोगरीब दावा, कहा – ‘नेताओं की याददाश्त मिटाकर मैं रोक सकता हूं रूस-यूक्रेन युद्ध’।

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

कानपुर के करौली बाबा संतोष सिंह भदौरिया (Santosh Singh Bhadoria) इन दिनों अपने बयानों के लिए सुर्खियों में बने हुए हैं. वो आए दिन कुछ न कुछ ऐसा कह रहे हैं, जिससे नया बवाल खड़ा हो रहा है.

वहीं अब उन्होंने रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध को लेकर एक बड़ी टिप्पणी की है. करौली बाबा का दावा है कि वे दोनों देशों के नेताओं की याददाश्त को मिटाकर युद्ध को रोक सकते हैं.

संतोष भदौरिया उर्फ करौली बाबा बीते दिनों तब सुर्खियों में आए थे जब एक शख्स ने उन पर अपने समर्थकों द्वारा मारपीट करने का आरोप लगाया था. पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 323, 504 और 325 के तहत मामला दर्ज किया. बुधवार (22 मार्च) को पुलिस जांच के लिए उनके आश्रम पहुंची, लेकिन बाबा का बयान दर्ज नहीं किया.

स्वयंभू संत ने कहा कि पुलिस आई और गई और वो भी जांच के पक्ष में हैं. उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी सरकार के शासन के दौरान पुलिस ने ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ के चलते उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) के तहत मामला दर्ज किया था.

करौली बाबा ऐसे रोकेंगे युद्ध

वहीं, रूस और यूक्रेन युद्ध को लेकर भी उन्होंने प्रतिक्रिया दी. करौली बाबा ने इंडिया टुडे से कहा, “अगर मैं चाहूं तो दोनों देशों के नेताओं की याददाश्त को मिटाकर रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध को रोक सकता हूं.” बता दें कि रूस और यूक्रेन के बीच पिछले साल फरवरी के महीने से युद्ध जारी है. रूस लगातार यूक्रेन पर बमबारी कर रहा है.

बाबा की छवि खराब करने की कोशिश?

संतोष भदौरिया ने अपने भक्त की पिटाई की घटना पर कहा कि यह एक ‘षड्यंत्र’ था और डॉक्टर (भक्त) को उनकी छवि खराब करने के लिए भेजा गया था. उन्होंने कहा कि सीसीटीवी वीडियो में डॉक्टर को जाने से पहले धन्यवाद कहते हुए देखा जा सकता है. यह पूछे जाने पर कि क्या उनके पास अपने दावे का समर्थन करने के लिए सीसीटीवी फुटेज है. भदौरिया ने कहा कि सीसीटीवी डेटा केवल 14 दिनों के लिए सेव किया जा सकता है, इसलिए वो रिकॉर्डिंग नहीं दे पाएंगे.

By Ahsan Ali

- Advertisement -spot_imgspot_img
Ahsan Ali
Ahsan Ali
Journalist, Media Person Editor-in-Chief Of Reportlook full time journalism.

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img