2.5 C
London
Tuesday, February 27, 2024

झारखंड: मस्जिद में पेशाब करने का आरोपी निकला अमेजॉन का कर्मचारी, भाजपा उतरी समर्थन में

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली – झारखंड के गिरिडीह जिले में मस्जिद के अंदर पेशाब करने के मामले का मुख्य आरोपी सनी राज अमेजन इंडिया का कर्मचारी निकला है.

एक समाचार वेबसाइट, enewsroom.in ने बताया कि स्थानीय पुलिस ने आरोपी के बारे में पूछताछ करने के लिए अमेज़न इंडिया की बैंगलोर शाखा का दौरा किया, जहाँ अमेज़न के अधिकारियों ने स्वीकार किया कि आरोपी कंपनी के साथ काम करता है, लेकिन “गोपनीयता” के मुद्दों का हवाला देते हुए पुलिस के साथ कोई भी जानकारी साझा करने से इनकार कर दिया।

सनी के लिंक्डइन प्रोफाइल से पता चलता है कि वह अमेज़न इंडिया में ‘प्रोसेस लीड’ हैं और पांच साल और तीन महीने से अधिक समय से बहुराष्ट्रीय कंपनी से जुड़ा हुआ हैं। उसने बेंगलुरु से एमबीए की डिग्री पूरी की। उसकी स्कूली शिक्षा गिरिडीह के एक कॉन्वेंट स्कूल में हुई है.

4 अक्टूबर को आरोपी को रोहित राज, दीपक मित्रा और चंदन गुप्ता के साथ मस्जिद के अंदर पेशाब करते पकड़ा गया था. इनकी करतूत सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गई।

घटना की जानकारी देते हुए एक स्थानीय ने बताया कि आरोपियों को स्थानीय लोगों ने पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया.

तेलोडीह के मुखिया (पंचायत प्रमुख) शब्बीर आलम ने कहा “जब वे स्थानीय लोगों द्वारा उनके घिनौने कृत्य के लिए पीटे जा रहे थे, तब एक पुलिस टीम मौके पर पहुंची, जिसके बाद आरोपियों को उनके हवाले कर दिया गया। लेकिन, एक समय था जब लोग इतने उत्तेजित थे कि पुलिस को उन्हें रोकने और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हवा में गोली चलानी पड़ी थी, ”

बेंगलुरु से होटल मैनेजमेंट करने वाले रोहित गिरिडीह में रेस्टोरेंट चलाता हैं। दीपक सरकारी ठेकेदार है, जबकि चंदन रियल एस्टेट का कारोबार करता है। पांचवां आरोपी बबला केशरी फरार है।

कथित तौर पर, मस्जिद के अंदर पेशाब करने वाला सनी दूसरी मस्जिद में भी यही दोहरा रहा था लेकिन नमाजियों ने उसे पकड़ लिया।

पांचों आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 109, 153, 153 (ए) (2), 245, 295 (ए), 296, 12सी (बी) और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, आरोपी अभी भी जेल में हैं क्योंकि उनकी जमानत अर्जी खारिज कर दी गई है।

“यह एक बहुत ही गंभीर अपराध है और एक शिक्षित व्यक्ति या ऐसे परिवार से संबंधित किसी व्यक्ति से उम्मीद नहीं की जा सकती है। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि सत्र अदालत से भी उनकी जमानत खारिज हो जाए।’

पुलिस ने कहा कि उन्हें सनी में मानसिक अस्थिरता का कोई संकेत नहीं मिला है, जिसका परिवार ने घटना के बाद दावा किया था। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, “अब तक की अपनी जांच में, हमें परिवार के इस दावे में कोई सच्चाई नहीं मिली है, वास्तव में, यह एक जानबूझकर और पूर्व नियोजित कार्य है।”

आरोपियों के बचाव में उतरे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता। उन्होंने आरोप लगाया कि झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के दो विधायकों के सामने पुलिस ने उनकी पिटाई की, जिसे झामुमो नेताओं ने नकार दिया।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img