जापान के पूर्व पीएम शिंजो अबे की मौत, भाषण के दौरान मारी थी गोलियां

विदेशजापान के पूर्व पीएम शिंजो अबे की मौत, भाषण के दौरान मारी थी गोलियां

टोक्यो. जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे (Shinzo Abe Death) को आखिरकार जिंदगी की जंग हार गए. जापानी मीडिया के हवाले से समाने आ रही खबरों के मुताबिक, शिंजो आबे को सीने में दो गोली मारी गई थी. उसके बाद उन्हें कार्डिएक अरेस्ट भी आया था. कई घंटों की इलाज के बाद आखिरकार उनकी मौत हो गई. शिंजो आबे की मौत के बाद जापान में 9 जुलाई (शनिवार) को एक दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया गया है.

गोली लगने के बाद शिंजो आबे का नारा मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा था. भारतीय समयानुसार सुबह 8 बजे (जापान के समय के मुताबिक सुबह 11.30) भाषण के दौरान आबे पर सभा में मौजूद एक हमलावर ने पीछे से गोलियां चलाईं. 6 घंटे बाद उन्होंने आखिरी सांस ली.

67 साल के आबे सुरक्षा बलों की मौजूदगी में एक भाषण दे रहे थे लेकिन दर्शकों आसानी से उनके पास पहुंच पा रहे थे. जापान के सरकारी टीवी NHK की तरफ से ब्रॉडकास्ट हुई फुटेज में दिखता है कि वो स्टेज पर खड़े हैं जब धमाके की तेज आवाज होती है और हवा में धुंआ उठता है.

कई अंग नहीं कर रहे थे काम

गोली लगने के बाद से ही उनकी हालत लगातार बिगड़ती जा रही थी. डॉक्टर उन्हें बचाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे, इसके बावजूद उनमें कोई सुधार नहीं दिख रहा था. आबे के दिल समेत कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था. ऐसे में माना जा रहा है कि आबे की मौत के बाद रविवार को होने वाले जापानी संसद के उच्च सदन के चुनाव टाले जा सकते हैं.

हमलावर सेल्फ डिफेंस फोर्स का सदस्य रह चुका है
रॉयटर्स की ताजा जानकारी के मुताबिक, शिंजो आबे पर गोली चलाने वाले को पुलिस ने मौके से गिरफ्तार किया है. 42 साल के हमलावर के पास से गन बरामद हुई है. हमलावर सेल्फ डिफेंस फोर्स का सदस्य रह चुका है. पुलिस आरोपी से सवाल-जवाब कर रह रही है. उसने गोली क्यों मारी, यह भी साफ नहीं हो सका है.

जापान के पीएम ने कहा- यह हमला बर्बर और दुर्भावनापूर्ण है
वहीं, जापान के मौजूदा पीएम फुमियो किशिदा ने शिंजो आबे पर हुए हमले को बर्बर और दुर्भावनापूर्ण बताया है. साथ ही यह भी कहा कि और इस घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. न्यूज एजेंसी एएनआई ने रायटर्स के हवाले से लिखा है कि पीएम किशिदा ने कहा कि हम वह सब कुछ करेंगे जो हम कर सकते हैं. इस समय, डॉक्टर शिंजो आबे को बचाने के लिए बहुत मेहनत कर रहे हैं.पीएम किशिदा ने यह भी कहा कि मैं आलोचना करने के लिए सबसे कड़े शब्दों का उपयोग करना चाहता हूं, और इस समय मैं यही बताना चाहता हूं.

कौन हैं शिजो आबे?
67 साल के ​​​​​​शिंजो आबे लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी(एलडीपी) पार्टी से जुड़े हैं. आबे 2006-07 के दौरान प्रधानमंत्री रहे. आबे को एक आक्रामक नेता माना जाता है. शिंजो को आंत से जुड़ी बीमारी अल्सरट्रेटिव कोलाइटिस थी, इसकी वजह से उन्हें 2007 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था. शिंजो आबे लगातार 2803 दिनों (7 साल 6 महीने) तक प्रधानमंत्री रहे. इससे पहले यह रिकॉर्ड उनके चाचा इसाकु सैतो के नाम था.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles