दिल्ली के जहांगीरपुरी में निकाली जा रही शोभा यात्रा में विवादित बयानबाजी के बाद हुई हिंसा के मामले में अब तक 14 लोगों की गिरफ्तारी हुई है. वहीं गिरफ्तार आरोपियों में एक अंसार (Ansar) का नाम भी शामिल है. इस बीच अंसार की बीवी ने अपने पति को निर्दोष बताया है. आपको बता दें कि दिल्ली पुलिस ने हिंसा की जांच के लिए 10 टीमें गठित की हैं. 

मेरा पति निर्दोष: शकीना

अंसार की पत्नी शकीना ने एक न्यूज़ एजेंसी से बातचीत में कहा, ‘मेरा पति निर्दोष है, रोजा खोलने के वक्त उनके पास जानकारी आई कि, लड़ाई झगड़ा हो रहा है. इसके बाद वह खाना छोड़ कर भागे ताकि कोई मार पिटाई न करने लगे. इसलिए तुरन्त बचाव के कारण वह घर से गए. लेकिन उन्हें ही दोषी करार दिया जा रहा है.

हमारा परिवार हिंदू इलाके में रहता है और यहां 12 साल हो गए हैं. वो कभी लड़ने झगड़ने में बिल्कुल नहीं थे. हमारे पड़ोसी भी हिंदू हैं. उन्हें आज तक कभी हमसे दिक्कत नहीं हुई. हम एक साथ रहते हैं. हमारे पड़ोसी के बेटे की कोरोना में तबीयत खराब हुई, सबसे गुजारिश कर उन्होंने बेटे का इलाज करवाया.’

उन्होंने आगे कहा कि, मेरे पति की तबीयत भी ठीक नहीं. शुगर और आधे शरीर में लकवा मारा हुआ है. मेरे पति अच्छे के लिए गए लेकिन उन्हें ही दोषी बता दिया गया है. मेरे घर मे वही कमाने वाले है, यदि उनको कुछ हो गया तो मेरे परिवार को कौन देखेगा.

अंसार की पड़ोसन ने भी आईएएनएस को बताया कि, वह लड़ाई की फिदरत का नहीं है, वह हमेशा हमारी मदद करता रहता है, मेरे बच्चे के इलाज कराने ले जाता है और पैसों से भी मदद करता है. हमारे सी ब्लॉक में किसी से भी पता कर लीजिए कोई उनको लेकर गलत नहीं बोलेगा. वहीं कोई हमारे गली में कभी झगड़ा भी होता है तो हमेशा रोकता है.

दरअसल रामनवमी पर कई राज्यों में हुए बवाल के बाद हनुमान जयंती के मौके पर दिल्ली के जहांगीरपुरी में निकाली जा रही शोभा यात्रा के दौरान जमकर बवाल हुआ. बवाल इतना बढ़ गया कि 8 पुलिसकर्मी और 1 नागरिक घायल हुआ. वहीं पुलिस ने अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार भी किया है. फिलहाल इलाके में तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है और भारी पुलिस बल तैनात है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment