कोरोना संक्रमण के दो साल बाद एक बार फिर ईद की खुशियों सबके साथ साझा की जा रही हैं। सोमवार को रमजान का आखिरी दिन था। पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान ने इस मौके पर ऐसा ट्वीट कर दिया कि उनके फॉलोवर्स कन्‍फ्यूज हो गए। इरफान ने लिखा था, ‘अलविदा रमादान… जिंदगी हुई तो अगले साल मुलाकात होगी।’ इरफान ने बहुमंजिला इमारत के भीतर से एक तस्‍वीर भी शेयर की थी। तस्‍वीर में जा-ए-नमाज़ भी नजर आ रही थी जिसपर भी कुछ यूजर्स ने टिप्‍पणी की।

कुछ को इरफान के ‘रमजान’ के बजाय ‘रमादान’ लिखने से दिक्‍कत थी। बहुत सारे यूजर्स यह पूछ रहे थे कि इरफान ऐसा क्‍यों कह रहे हैं कि ‘जिंदगी हुई तो…’ फैन्‍स ने सलामती की दुआ करते हुए ईद का त्‍योहार प्‍यार और भाईचारे का संदेश देता है। ऐसे खुशनुमा मौके पर ट्वीट की भाषा सकरात्‍मक रखी जा सकती थी।

एक यूजर ने लिखा कि ऐसा ट्वीट करने वाले में कितनी नकरात्‍मकता भरी होगी। कई लोगों को ‘रमादान’ लिखने से दिक्‍कत थी। इरफान को याद दिलाया गया कि हम लंबे वक्‍त से ‘रमजान’ लिखते-बोलते आ रहे हैा। कुछ ने ऐसे ट्वीट्स के जवाब में लिखा कि ‘अरबी में रमादान ही सही उच्‍चारण है।’ एक यूजर ने इरफान पर इस्‍लाम का अरबीकरण करने का आरोप मढ़ दिया। राहुल सिन्‍हा नाम वाले यूजर ने लिखा, ‘सर ऐसा क्‍यों बोलते हैं आप। भगवान उन्‍हें हमेशा जिंदा रखेगा जो इंसानियत को जिंदा रखे हुए हैं। आप तो खरा सोना हैं। भगवान आपको स्‍वस्‍थ और दीर्घायु रखे।’ इरफान को उनके ट्वीट पर ईद की मुबारकबाद देने वाले भी कम नहीं थे।

पिछले दिनों भारत को लेकर भारत के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान और क्रिकेटर अमित मिश्रा के ट्वीट वायरल हुए थे। इरफान ने ट्वीट किया लेकिन अपनी बात को अधूरा छोड़ था। उनके ट्वीट की ही शुरुआती लाइनें लेकर मिश्रा ने अपना पूरा ट्वीट किया, जिसे पठान को जवाब के रूप में देखा जा रहा है। इरफान ने ट्वीट किया था, ‘मेरा देश, मेरा खूबसूरत देश, इसके पास दुनिया का महानतम देश बनने की संभावना है। लेकिन…।’ इसके बाद अमित मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘मेरा देश, मेरा खूबसूरत देश, इसके पास दुनिया के सबसे खूबसूरत देश बनने की संभावना है… अगर सिर्फ कुछ लोग यह समझ जाएं कि हमारा संविधान वह पहली किताब है जिस पर अमल किया जाना चाहिए।’ हालांकि, दोनों ने तो एक-दूसरे का नाम लिया है और न ही किसी को टैग किया। बाद में इरफान ने जवाब में संविधान की प्रस्‍तावना ट्वीट करके सभी नागरिकों से उसे फॉलो करने की अपील की थी।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment