पंजाब की जेल में बंद कुख्यात मुख़्तार अंसारी के दोनों बेटों अब्बास अंसारी और उमर अंसारी को उत्तरप्रदेश पुलिस ने थाने में बिठाकर घंटों पूछताछ की। अब्बास और उमर पर जालसाजी तरीके से जमीन कब्ज़ा करने और उसपर अवैध निर्माण करने का आरोप है। थाने में घंटों तक बिठाकर पूछताछ करने पर अब्बास के वकील ने बताया कि यह मामला तबका है जब वो पैदा भी नहीं हुए थे। हमें संविधान और कोर्ट दोनों पर भरोसा है।

पिछले साल अगस्त के महीने में जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल ने मुख़्तार अंसारी के दोनों बेटों पर जमीन कब्ज़ा करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करायी थी। सुरजन लाल ने आरोप लगाया था कि डालीबाग की जिस जमीन पर अब्बास और अमर अंसारी के नाम से टावर बनाया गया है वह जमीन मोहम्मद वसीम की है। मोहम्मद वसीम के पाकिस्तान जाने के बाद इस सम्पत्ति को सरकार ने निष्क्रांत में दर्ज किया था।

बाद में जमीन कब्ज़ा करने के लिए मुख़्तार के दोनों बेटों ने गलत तरीके से फर्जी डॉक्यूमेंट बनवाए और अवैध रूप से दो टावरों का निर्माण करवाया। बाद में लेखपाल के द्वारा केस दर्ज कराए जाने के बाद सरकार ने दोनों टावरों को ध्वस्त कर दिया था। मुख़्तार के दोनों बेटों पर पुलिस ने करीब 25 हजार का इनाम रखा हुआ है। हालाँकि दोनों ने अपनी गिरफ़्तारी को लेकर इलाहबाद हाईकोर्ट से स्टे ले रखा है।

इसी मामले में मुख़्तार अंसारी की पत्नी अफशा अंसारी की अग्रिम जमानत बीते 3 फ़रवरी को ही मंजूर हो गयी थी। हालाँकि मुख़्तार अंसारी, पत्नी अफशा अंसारी, दोनों बेटों अब्बास अंसारी और उमर अंसारी के पासपोर्ट पहले ही पुलिस ने जब्त करवा लिए हैं। मुख़्तार इस समय पंजाब की एक जेल में बंद हैं। योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही मुख़्तार अंसारी की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है।

आपको बता दूँ कि पिछले दिनों अब्बास के शादी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी। अब्बास का निकाह राजस्थान में हुआ था। साथ ही अब्बास बीएसपी के टिकट पर विधानसभा का चुनाव भी लड़ चुका है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *