इंडोनेशिया ने पाम ऑयल के निर्यात पर 28 अप्रैल से प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है जिसका सीधा असर भारत पर पड़ना तय है। दुनिया के सबसे बड़े पाम ऑयल उत्पादक देश के इस फैसले से भारत में खाद्य तेलों की कीमतें बढ़ सकती हैं। भारत इंडोनेशिया का सबसे बड़ा पाम ऑयल आयातक देश है। भारतीय ट्रेड समूहों ने प्रतिबंध के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

इंडोनेशिया के वित्त मंत्री ने रॉयटर्स से कहा कि – “पाम ऑयल के निर्यात पर प्रतिबंध का कुछ देशों पर असर पड़ सकता है लेकिन रूस-यूक्रेन युद्ध की वजह से खाद्य तेलों की घरेलू कीमतों को काबू करने के लिए यह क़दम ज़रूरी है।”

वित्त मंत्री श्री मुल्यानी ने कहा कि शुक्रवार को प्रतिबंध का फैसला “सबसे कठोर क़दमों में से है” जिसे सरकार ने घरेलू कीमतों को स्थिर करने के पिछले उपायों के विफल होने के बाद लिया है।

आईएमएफ और वर्ल्ड बैंक के स्प्रिंग मीटिंग के बाद एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि, “हम जानते हैं कि वैश्विक निर्यात के लिए इसके परिणाम ठीक नहीं होंगे।” इंडोनेशियाई वित्त मंत्री ने आगे कहा – “अगर हम निर्यात नहीं कर रहे हैं, तो इसका ज़रूर कुछ देशों पर असर पड़ेगा।”

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment