नई दिल्ली: टीम इंडिया के स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा इन दिनों काफी सुर्खियों में हैं. विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने हाल ही में सोशल मीडिया पर उस पत्रकार की व्हाट्सएप बातचीत का स्क्रीनशॉट शेयर किया था, जो उन्हें इंटरव्यू के लिए धमका रहा था. इस पूरी घटना के बाद BCCI ने जांच करनी शुरू की और साहा को पत्रकार का नाम बताने के लिए कहा गया. साहा ने पहले तो ऐसा नहीं किया लेकिन अब वो पत्रकार के नाम का खुलासा कर चुके हैं. 

साहा ने किया पत्रकार के नाम का खुलासा

सीनियर विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा के पत्रकार विवाद पर बड़ी खबर सामने आई है. बीसीसीआई की 3 सदस्यीय समिति की मीटिंग में साहा ने एक बड़ा खुलासा कर दिया है. ANI के अनुसार साहा ने बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि उन्होंन सब कुछ बीसीसीआई के सामने रख दिया है. उन्होंने उस पत्रकार का नाम भी बीसीसीआई से नहीं छुपाया है.

साहा ने कहा कि, ‘अंतिम फैसला बोर्ड और समिति का होगा. द्रविड़ और गांगुली के मामले में उन्होंने कहा कि वो यहां इस मामले पर कुछ नहीं कह सकते. अब बीसीसीआई खुद इस मामले का खुलासा करेगी. 

पत्रकार ने दी थी ये धमकी

बता दें कि विकेटकीपर बल्लेबाज ऋद्धिमान साहा ने हाल ही में एक जर्नलिस्ट की ओर से इंटरव्यू के लिए परेशान करने का आरोप लगाया है. साहा ने सोशल मीडिया पर उस पत्रकार की व्हाट्सएप बातचीत का स्क्रीनशॉट शेयर किया था, जो उन्हें इंटरव्यू के लिए धमका रहा था. साहा ने एक स्क्रीनशॉट शेयर किया था, जिसमें पत्रकार ने उनसे कहा था, ‘मेरे साथ एक इंटरव्यू करोगे. यह अच्छा होगा.

उन्होंने (सेलेक्टर्स) केवल एक ही विकेटकीपर चुना. कौन बेस्ट है. तुमने 11 जर्नलिस्ट को चुनने की कोशिश की, जोकि मेरे हिसाब से सही नहीं है. उसे चुने जो ज्यादा मदद कर सके. तुमने कॉल नहीं किया. मैं अब तुम्हारा कभी इंटरव्यू नहीं लूंगा और मैं इसे याद रखूंगा.’  

साहा ने गांगुली-द्रविड़ पर भी लगाए आरोप

ऋद्धिमान साहा ने हेड कोच राहुल द्रविड़ और बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली को लेकर कहा था, ‘टीम मैनेजमेंट ने मुझसे कहा था कि अब मेरा चयन नहीं होगा. चूंकि मैं अभी तक इंडियन टीम के सेटअप का हिस्सा था, इसलिए इस बारे में बता नहीं सकता था. यहां तक कि कोच राहुल द्रविड़ ने कहा था कि मुझे रिटायरमेंट लेने के बारे में सोचना चाहिए.

इसके अलावा जब कानपुर टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ मैंने पेन किलर लेकर नाबाद 61 रन बनाए थे तो दादा (सौरव गांगुली) ने मेरी काफी तारीफ की थी.’ राहुल द्रविड़ ने व्हाट्सएप पर मुझे मैसेज किया था और बधाई दी थी. उन्होंने यहां तक कहा कि जब तक मैं बीसीसीआई का प्रेसिडेंट हूं तुम्हे चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है. बोर्ड प्रेसिडेंट की तरफ से ये बातें सुनकर मेरा कॉन्फिडेंस काफी बढ़ गया था. हालांकि अब मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि सबकुछ इतना जल्दी कैसे बदल गया.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment