दोस्तों इस्लाम ऐसा धर्म है जो तेज़ी से पूरी दुनिया में फ़ैल रहा है इस्लाम दुनिया का एक मजहब है, इसके अनुयाइयों की संख्या में ईसाई धर्म के बाद दूसरा स्थान है। इसके अनुयायियों को मुसलमान और इनके प्रार्थना स्थल को, मस्जिद कहते हैं। आज दुनिया के अधिकांश देशों में मुसलमान हैं, जो मुख्य रूप से आप्रवासन के कारण हैं। मक्का की वार्षिक तीर्थयात्रा, हज, सबसे बड़े मानव प्रवासियों में से एक है और दुनिया भर से मुसलमानों को एक साथ लाता है.

मुस्लिम जनसंख्या के मामले में दक्षिण पूर्व एशिया, दक्षिण एशिया, अफ्रीका और ज्यादातर मध्य पूर्व में सुन्नियां बहुसंख्यक हैं दुनिया के 90% मुसलमान सुन्नी हैं, और तेज़ी से लोग इस्लाम धर्म में शामिल हो रहे है रोज़ कोई न कोई इस्लाम धर्म कबूल रहा है तेज़ी के साथ लोग अपनी मर्ज़ी से इस धर्म में आ रहे है .

वक्त इ’स्ला’म कबुला करने से ठीक पहले शहादा पढ़ा। उसकी उम्र लग भग 75 वर्ष बताई जा रही है। वो अस्पताल के बिस्तर पर पड़ा हुआ था। मिली जानकारी के अनु सार ये व्यक्ति लम्बे समय से बिमार था। बताया जा रहा है कि उसने अपने आखरी वक्त में ठीक दुनिया को अलविदा कहने से पहले उसने इ’स्ला’म कबुला तथा मु’स्लि’म होकर म’रना पसंद किया। इस वीडियो में इस मृ’त्यु शय्या पर लेटे इस व्यक्ति,

के अलावा एक व्यक्ति और है जो उस बुढ़े व्यक्ति की गवाही सुनने में मदद कर रहा है। वो व्यक्ति कहा रहा है कि अ’ल्ला’ह के सिवा कोई सच्चा माबुद नहीं है। उसके साथ कोई शरीक नहीं है। हज़’रत मो’ह’म्मद मुस्त’फा स’ल्ल’ल्ला’हो अ’लै’हि व’स’ल्ल’म अ’ल्ला’ह के बंदे और उनके सच्चे रसुल है।

वो 75 वर्ष का व्यक्ति इस कलमें को पढ़ने के बाद दुनिया को अलविदा कह दिया। हालाँकि इसके बारे में अभी कोई और जानकारी नहीं मिल पाई है और न ही इसके बारे में कुछ भी पुख्ता तौर पर कहा जा सकता है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment