11.9 C
London
Tuesday, May 21, 2024

इधर आलिया भट्ट के हाथों में लगी मेहंदी तो उधर छलके करण जौहर के आंसू, जानिए वजह

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

आलिया भट्ट और रणबीर कपूर की शादी (Ranbir-Alia Wedding) बॉलीवुड की मोस्ट अवेटेड शादियों में से एक, जो आज होने जा रही हैं. इस शादी को लेकर पिछले कई दिनों से जबरदस्त बज बना हुआ था. 13 अप्रैल को शादी की रस्मों की शुरुआत हुई और दो अच्छे दोस्त ‘वास्तु’ अपार्टमेंट में शादी के बंधन में बंधकर पति-पत्नी हो जाएंगे. 13 अप्रैल को आलिया भट्ट के हाथों मेहंदी रणबीर के नाम का मेहंदी सजाई गई. इस दौरान कपूर और भट्ट परिवार के साथ जाने-माने फिल्म मेकर करण जौहर (Karan Johar) भी पहुंचे, जो आलिया के हाथों में मेहंदी लगता देख अपने आंसू रोक नहीं पाए और रोने लगे. करण को रोता देख आलिया की सासू मां नीतू कपूर (Neetu Kapoor) भी भावुक हो गईं.

आलिया भट्ट की मेहंदी सेरेमनी (Alia Bhatt Mehendi Ceremony) आखिर करण जौहर (Karan Johar) भावुक क्यों हुए, ये सवाल लोगों के मन में बना हुआ है. आप भी ये जानने के लिए बेकरार हो रहे हैं तो हम बताते हैं कि आखिर आलिया-करण के बीच में क्या रिश्ता है, जो वह आलिया के हाथों में मेहंदी लगता देख भावुक हो गए.

आलिया के हाथों में मेहंदी सजता देख भावुक हुए करण जौहर
आलिया भट्ट और करण जौहर के बीच काफी खास रिश्ता है. आलिया ने उन्हीं की फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ से बॉलीवुड नगरी में कदम रखा और फिर आज तक अपनी अदाकारी से सबको चकित किया है. आलिया ने कई बार के जिक्र किया है कि करण उनके लिए मेंटर ही नहीं बल्कि उनके लिए एक पिता के जैसे भी हैं. बॉलीवुड लाइफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, जब आलिया के हाथों में मेहंदी सज रही थी, तो करण खुद को रोक नहीं पाए और वह भावुक हो गए.

करण जौहर को पिता की तरह मानती हैं आलिया
जैसे एक बेटी अपने पिता से अपने सारे दुख शेयर कर लेती है, उसी तरह आलिया भी हर मुश्किल पर अपने दुखों को बांटने के लिए करण जौहर के पास आती हैं. आलिया करण के प्यारे बच्चों यश और रुही को अपना भाई-बहन मानती हैं. इतना ही नहीं हर साल वह यश को राखी भी बांधती हैं. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो मेहंदी सेरेमनी को करण होस्ट कर रहे थे और ये सब देख वह खुद को रोक नहीं पाए और उनके आंसू झलक गए.

नीतू कपूर भी रोक नहीं पाईं आंसू
करण को भावुक होता देख नीतू कपूर भी अपने आंसू रोक नहीं पाईं और ऋषि कपूर को याद कर वह भावुक हो गईं. दरअसल,  ऋषि कपूर का सपना था कि वह अपने बेटे को दूल्हा बनता देखे. उनकी ये इच्छा उनते जीते-जी तो पूरी नहीं हो सकी.  मेहंदी फंक्शन के दौरान वह अपने और ऋषि कपूर की कुछ पुरानी यादों को ताजा करती हुईं नजर आईं.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here