जयपुर:शहर के बीचों बीच स्थित जैन मंदिर में देर रात चोरों ने बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। आज सवेरे छह बजे जब मंदिर में पूजा करने के लिए लोग पहुंचे तो वारदात का खुलासा हुआ। जांच करने पहुंची माणक चैक पुलिस ने बताया कि हल्दियों के रास्ते में स्थित उंचा कुआं के पास दिगम्बर जैन मंदिर में चोरों ने वारदात की। मंदिर प्रशासन के अनुसार करीब सात से आठ बेशकीमती मूर्तियां चोरी होने के साथ ही करीब चार से पांच किलो वजनी चांदी के बर्तन और पूजा में काम आने वाले संसाधन चोर ले गए। मंदिर के मुख्य द्वार को पेजकस की मदद से तोड़ा गया और उसके बाद इन वारदात को अंजाम दिया गया।

एक के बाद एक छह लाॅक तोड़े चोरों ने
मंदिर संभालने वाले रवि जैन ने बताया कि शहर के बीचों बीच स्थित होने के बाद भी सुरक्षा पर सवाल खड़े होते हैं। मंदिर में किसी और जगह से आने की जगह नहीं है। चोर मुख्य दरवाजे से आए। उन्होनें कुंदी या ताला नहीं तोड़ा, पेचकस की मदद से उसे उखाड़ ही दिया। सवेरे जब हम पूजा करने आए तो पेचकस ही मौके पर मिला। मंदिर में अंदर देखा तो सात से आठ छोड़े बड़े ताले तोड़कर कई मूर्तियां निकाल ली गई। इनमें अष्टधातु, पीतल और अन्य वस्तुओं से बनी बेशकीमती मूर्तियां और चंवर थे। चांदी का सिंहासन भी चोर ले गए। सालों से हर रोज मंदिर में सेवा कर रहे हैं। कभी किसी ने भी नहीं सोचा था कि इतनी भीड़ भाड़ वाली जगह पर भी चोर मंदिर को निशाना बना लेंगे। गौरतलब है कि इससे पहले भी दो से तीन महीने के दौरान शहर में तीन अन्य जैन मंदिरों में चोरों ने वारदातें की हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment